logo

गठिया रोग पर डॉ. मोहित ने इंदौर में दिया व्याख्यान

( Read 12117 Times)

10 Apr 18
Share |
Print This Page

गठिया रोग पर डॉ. मोहित ने इंदौर में दिया व्याख्यान उदयपुर। जी.बी.एच. अमेरिकन अस्पताल के गठिया एवं इम्म्यूनोलॉजी विशेषज्ञ डॉ. मोहित गोयल ने ए.पी.आई. एवं सी.एस.आई. द्वारा इंदौर में आयोजित अपडेट २०१८ में गठिया रोग पर व्याख्यान दिया। उन्होंने बताया कि गठिया एवं इससे संबंधित रोग प्रतिरक्षा प्रणाली से सम्बंधित समस्याएंं है और यह सिर्फ जोडों को ही नहीं, शरीर के किसी भी अंग को प्रभावित कर सकती हैं।
ग्रुप डायरेक्टर डॉ. आनंद झा ने बताया कि डॉ. मोहित ने अपने उपचाराधीन रोगियों के आँकडों के माध्यम से बताया कि रह्यूमेटॉयड आर्थराइटिस से ग्रसित लोगों में से १५ प्रतिशत से अधिक को श्वास एवं फेंफडे से सम्बंधित समस्याएं होती है। गठिया का सम्पूर्ण उपचार करने से श्वास की तकलीफ में भी आराम होता है। ऐसी परिस्थिति में कौनसी दवा उपयोग करनी है व कौनसी नहीं, उसका खास ध्यान रखना होता है। उन्होंने बताया की जोडों में दर्द, सूजन एवं जकडन के अलावा, कमर व गर्दन में दर्द या जकडन, श्वास लेने या भोजन निगलने में तकलीफ, मुँह व आँखें अत्यधिक सूखना, मुँह, जननाँग या अन्यत्र छाले होना, सोरायसिस के साथ दर्द, त्वचा में कसाव आना, बार-बार आँख लाल होना एवं दर्द होना, धूप में चेहरा लाल होना, बाल गिरना, खून की कमी होना, थक्के जमना, बार-बार गर्भपात होना इत्यादि भी गठिया एवं सम्बंधित रोगों के पहले लक्षण हो सकते हैं। अपडेट कांफ्रेंस में कई पद्म पुरस्कार अलंकृत विशेषज्ञों ने भी व्याख्यान दिए। डॉ. मोहित अकेले रह्यूमेटोलॉजिस्ट थे। कांफ्रेंस में शिरकत कर रहे २०० से अधिक स्पेशलिस्ट डॉक्टर्स ने डॉ. मोहित के व्याख्यान को गठिया रोग के कई उपेक्षित पहलुओं पर प्रकाश डालने के लिए खूब सराहा। उनके केस बेस्ड चर्चा की विधि को ही आगे की सभाओं में अपनाने की बात कही।

Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines , Editors Choice
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like