logo

प्राकट्य उत्सव के साथ हुआ नंदीघोश रथ का हुआ लोकार्पण

( Read 3647 Times)

14 Jul 18
Share |
Print This Page
प्राकट्य उत्सव के साथ हुआ नंदीघोश रथ का हुआ लोकार्पण प्रातः 11 बजे जगन्नाथ धाम सेक्टर-7 से भगवान जगन्नाथ नव निर्मित रथ नन्दीघोश पर आरूढ़ होकर भक्तों को दर्षन देने नगर भ्रमण पर निकलेंगे। रथ यात्रा का षुभारम्भ नगर के गणमान्य नागरिकों द्वारा मन्दिर प्रांगण में चांदी के झाडू से मार्जन कर किया जायेगा तथा षंख चूड रस्सी से हर भक्तजन इस रथ को खीचेंगे।
जगन्नाथ धाम सेक्टर-7 के संरक्षक डॉ. प्रदीप कुमावत ने बताया कि जगन्नाथ धाम सेक्टर-7 से 12वीं रथ यात्रा में भगवान जगन्नाथ, सुभद्राजी, बलभद्र जी एवं सुदर्षन जी की मंदिर में प्रतिश्ठित महादारू (काश्ट) की प्रतिमाएं रथ में आरूढ़ होकर नगर भ्रमण पर निकलेगी तथा यह रथ यात्रा सर्वधर्म सम्भाव व “सर्वे भवन्तु सुखीना” के ध्येय वाक्य को लेकर व सामाजिक समरसता व समस्वरता के साथ निकाली जायेगी।
डॉक्टर प्रदीप कुमावत ने बताया कि इस अवसर पर ध्वजा का भी लोकार्पण कर ध्वजा चढ़ाई गई।
नंदी घोष व्रत की संपूर्ण संरचना संपूर्ण रूप से डॉक्टर प्रदीप कुमावत के नेतृत्व में की गई जिसमें सहयोगी के रुप में शिव सिंह सोलंकी एवं जगन्नाथ धाम के अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह भाटी रहे ।
इस बार नवनिर्मित रथ नंदी घोश को जो आसाम से मंगाई गई लकड़ी द्वारा सागवान की लकड़ी द्वारा निर्मित किया गया है। जगन्नाथ नगर भ्रमण पर निकल कर आमजन को सामाजिक समरसता व धार्मिक सहिश्णुता व समस्वरता का संदेष देंगे।
जगन्नाथ धाम सेक्टर-7 के अध्यक्ष भूपेन्द्रसिंह भाटी ने बताया कि रथ यात्रा जगन्नाथ धाम सेक्टर-7 मंदिर प्रांगण से प्रातः 11 बजे प्रारम्भ होकर जड़ाव नर्सरी, सवीना चौराहा, फल सब्जी मण्डी, रेती स्टेण्ड, षिव मंदिर माछला मगरा, पटेल सर्कल, किषनपोल, रंगनिवास, भट्यिनी चौहटा, जगदीष चौक से मूल जगन्नाथ रथयात्रा में सम्मिलति होते हुये संतोशी माता मंदिर, देहली गेट, बापू बाजार, जे.एम.बी. से कमलावाड़ी, उदियापोल से पुलिस लाईन रोड़, टेकरी मादड़ी रोड़, हिन्दू राज तिराहा, पुलिस थाना सेक्टर-6 होकर पुनः जगन्नाथ धाम सेक्टर-7 पहुँचेगी। जगह-जगह विभिन्न समाजों, संगठनों, संस्थाओं द्वारा भव्य स्वागत होगा।
आज (14 जुलाई) बापू बाजार में 31 हजार दीयों से होगी भव्य महाआरती
महाआरती के संयोजक डॉ. प्रदीप कुमावत ने बताया कि बापू बाजार में आज (14 जुलाई) रात्री 8.30 से 9.30 बजे के बीच 31 हजार दीपों से भव्य महाआरती की जायेगी। साथ ही 101 किलो गुलाब की पत्तियों से भव्य स्वागत और अभिनंदन किया जायेगा। महाआरती के लिये 21 टेबल पर प्रत्येक टेबल पर 1500 आटे के दीपक विभिन्न परिवारों से तथा आलोक संस्थान के कार्यकर्त्ताओं ने बनाकर तैयार किये है वो रखे जायेंगे। आमजन भी अपने घर से दीपक बनाकर ला सकते है।
सात स्थानों पर होगी विभिन्न प्रहर और दर्षनों की आरती
षिवसिंह सोलंकी ने बताया कि प्रथम आरती जगन्नाथ धाम सेक्टर-7 से प्रातः 11 बजे यात्रा प्रारम्भ होगी तब होगी। दूसरी भोग आरती जड़ाव नर्सरी, सवीना चौराहें पर, तीसरी श्रृंगार आरती रेती स्टेण्ड पर, चौथी षौर्य आरती किषनपोल पर, पांचवी महाआरती बापू बाजार में, छठी बहुड़ा आरती पानेरियों की मादड़ी हिन्दू राज तिराहे पर, सातवीं षयन आरती जगन्नाथ धाम सेक्टर-7 में होगी।
आज (14 जुलाई ) जगन्नाथ करेंगे सेक्टर-7 के अण्डर ब्रिज का षुभारम्भ
भगवान जगन्नाथ का रथ जब आज सेक्टर-7 स्थित अंडरपास पुलिया से पहली बार निकलेगा तक वहाँ तिलक लगाकर, नारियल फोड़कर भगवान जगन्नाथ के सुदर्षन को उस पुलिया से स्पर्ष करा कर विधिवत उद्वघाटन किया जायेगा। लोगों की भावनाओं को ध्यान में रखकर सहमति बनाते हुये इस अंडरपास पुलिया का नाम जय जगन्नाथ अंडर पास रखा गया है।
15 दिन बाद भगवान जगन्नाथ ने भक्तों को दिये दर्षन
जगन्नाथ धाम सेक्टर- 7 में भगवान जगन्नाथ ने आज 15 दिन की बीमारी के बाद भक्तों को नये कलेवर धनुधारी वेष में दर्षन दिये। दोपहर 12.15 बजे प्राकट्य उत्सव हुआ। इस अवसर पर महिलाआें ने गीत और भजन गाकर भगवान के दर्षन का इंतजार किया और 12.15 बजे जब दर्षन दिये तो स्वागत हुआ। आज भगवान ने धनुधारी वेष धारण किये तथा भक्तों को दर्षन दिये। आज वर्श में एक बार ऐसा दिन आता है जब भक्तगण भगवान के भोग लगाने अपने घर से व्यंजन बनाकर लाते है आज यहाँ छप्पन भोग विभिन्न भक्तां द्वारा लाकर धराये गये।
जगन्नाथ रथ नंदीघोश का हुआ लोकार्पण
जगन्नाथ धाम सेक्टर-7 के नव निर्मित रथ नन्दीघोश का आज विधिवत षुभारम्भ जगन्नाथ धाम सेक्टर-7 में हुआ। इस बार नवनिर्मित रथ नंदी घोश को जो आसाम से मंगाई गई लकड़ी द्वारा सागवान की लकड़ी द्वारा निर्मित किया गया है।
इस अवसर पर डॉ. प्रदीप कुमावत, भूपेन्द्र सिंह भाटी, षिवसिंह सोलंकी, मनोश उपाध्याय, निष्चय कुमावत, प्रकाष षर्मा, गिरिष षर्मा, हरीष तोशनीवाल, सीपी सिंह सहित अनेक गणमान्य उपस्थित थे।
Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like