BREAKING NEWS

अजमेर बनेगा भारत का डेनमार्क

( Read 1933 Times)

13 Oct 19
Share |
Print This Page
अजमेर बनेगा भारत का डेनमार्क

अजमेर डेयरी के अध्यक्ष रामचन्द्र चौधरी ने देश में श्वेत क्रांति को बढ़ावा देने के लिए नेशनल मिल्क ग्रिड स्थापित करने की माँग 
नई दिल्ली, 12 अकटूबर, 2019. अजमेर डेयरी के अध्यक्ष रामचन्द्र चौधरी ने केन्द्र सरकार से नेशनल डेयरी डवलेपमेंट बोर्ड के माध्यम से दुग्ध उत्पादकों एवं डेयरी के हित में एवं देश में श्वेत क्रांति को बढ़ावा देने के लिए नेशनल मिल्क ग्रिड स्थापित करने और दुग्ध का अतिरिक्त समर्थन मूल्य चार रु. प्रति लीटर दिलवाने की माँग की हैं।
चौधरी ने बताया कि कर्नाटका एवं राजस्थान सरकार  दुग्ध का क्रमशः छः एवं दो रु प्रति लीटर सपोर्ट प्राइज़ दे रही हैं। समर्थन मूल्य बढ़ने से पशुपालकों को दूध का अधिक ख़रीद मूल्य मिल सकेगा।
उन्होंने भारत सरकार से अच्छे नस्ल की बछड़िया पैदा करने के लिए ब्राज़ील से सेक्स सीमन मँगवाने की मांग भी की।उन्होंने बताया कि इससे हमारे ब्रीड विकास कार्यक्रम एवं दुध उत्पादन को बढ़ावा मिलेगा और नकारा बछड़ों की समस्या से निजात मिलेंगी।उन्होंने पशु बीमा के मंद गति से चल रहे काम की गति को बढ़ावा देने की ज़रूरत पर भी बल दिया। 
चौधरी ने सेंथेटिक दूध की रोकथाम,दूध एवं घी एवं अन्य दुग्ध उत्पादों में मिलावट करने वालों के ख़िलाफ़ सख़्त क़ानून बनाने एवं आजीवन कारावास की सजा सम्बन्धी क़ानून बनाने का सुझाव भी दिया।
अजमेर बनेगा भारत का डेनमार्क
चौधरी ने बताया की अजमेर डेयरी का 253 करोड़ रू. का नया अत्याधुनिक दस लाख लीटर उत्पादन श्रमता वाला डेयरी संयन्त्र आगामी अगले वर्ष अप्रैल में बन कर तैयार हो जायेगा। ग्रीन बिल्डिंग प्रॉजेक्ट के तहत एनडीडीबी के माध्यम से बनवाया जा रहा यह देश का पहला डेयरी संयन्त्र होगा। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि अजमेर भारत का डेनमार्क साबित होगा,ज़ाया देश विदेश के पशुपालक व टेक्नोक्रेट्स डेयरी संयन्त्र का अवलोकन एवं अध्ययन के लिए आयेंगे।
केन्द्रीय मंत्रियों को ज्ञापन
चौधरी ने बताया कि अजमेर डेयरी के निर्माणाधीन डेयरी प्लांट की बकाया 32.16 करोड़ की अनुदान राशि  दिलवाने व अन्य  समस्याओं के समाधान के लिए उन्होंने अजमेर डेयरी के संचालक मंडल के सदस्यों के साथ केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर,राज्य मंत्री पुरुषोत्तम रूपाला एवं 
कैलाश चौधरी को ज्ञापन दिया। उन्होंने बताया कि जी एस टी के कारण दूध एवं घी की क़ीमतों पर असर पड़ा है।
दिल्ली में दूध की आपूर्ति में आगे
उन्होंने बताया कि अजमेर ज़िला दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ द्वारा डीएमएस दिल्ली को प्रतिदिन पचास हज़ार लीटर एवं मदर डेयरी को चालीस हज़ार लीटर की आपूर्ति की जा रही है। अजमेर डेयरी प्रतिदिन चार लाख लीटर दूध का उत्पादन कर रहा है तथा नया प्लांट बनाने के बाद इसकी श्रमता दुगनी से भी अधिक हो जाएँगीं।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like