logo

शेलेन्द्र जैन को मिला लाइफ टाईम अचीवमेन्ट अवार्ड

( Read 3013 Times)

13 Jan 19
Share |
Print This Page
शेलेन्द्र जैन को मिला लाइफ टाईम अचीवमेन्ट अवार्ड

उदयपुर जैन इंजीनियरिंग सोसायटी का दो दिवसीय 12वां राष्ट्रीय अधिवेशन उदयपुर के स्प्रेक्ट्रम रिसोर्ट में जैन धर्म के जरिये पर्यावरण स्थिरता विषय पर आयोजित किया गया। समारोह के मुख्य अतिथि आदित्य बिरला ग्रुप के निदेशक एवं ग्रासिम इन्डस्ट्रीज के सलाहकार इंजि. उज्जैन के शेलेन्द्र जैन एवं विश६ठ अतिथि कोलाकाता के सीए राजेश जैन थे।

समारोह को संबोधित करते हुए शेलेन्द्र जैन ने कहा कि लीडर हमेशा भवि६य की सोचता है। मूल्यों एवं संस्कृति की रक्षा करते हुए आगे बढने में आदित्य बिरला ग्रुप सदैव अग्रणी रहा है। कर्म पर जैनत्व टिका हुआ है। कर्म के जरिये अपने भवि६य को बदल सकते है। अहिंसा, अपरिग्रह,प्रत्यक्ष रूप से पर्यावरण संरक्षण से जुडे हुए है। उन्हने कहा कि अपने दिमाग का उपयोग कर लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है। जैन साहित्य को संरक्षणकर उसे आसान भाषा में लिखकर आमजन तक पंहुचाना चाहिये।

कोलाकाता से सीए राजेश जैन ने जैन धर्म के जरिये पर्यावरण स्थिरता विषय पर बोलते हुए पिछले 200 वर्षोमें जितनी आबादी बढी है उस हिसाब से आने वाले 100 वर्षोमें समय में 5 पृथ्वी जितनी जमीन चाहिये। वर्तमान में सबसे अधिक कार्बन चीन उत्सर्जित कर रहा है। दूसरे नम्बर पर अमेरीका व तीसरे स्थान पर भारत है। प्रतिव्यक्ति आय भारत में जैनी सबसे आगे है। हमनें अनेकांत के सिद्धान्त का दुरूपयोग किया है। उन्हने कहा कि हमें अपने विवेक का इस्तेमाल कर करना चाहिये। अंधभक्त हो कर किसी पर वि८वास नहीं कर।

इस अवसर पर सोविनियर संपादक तपन जैन व विकास जैन ने मंचासीन अतिथियों इंजि. शेलेन्द्र जैन,राजेश जैन, संस्थापक अध्यक्ष इंजि.राजेन्द्र जैन, राष्ट्रीय अध्यक्ष इंजि. शवसिंह मेहता,जोनल चेयरमेन पी.सी.छाबडा, राष्ट्रीय अधिवेशन के कन्वीनर इंजि.अतुल जैन,उदयपुर चेप्टर के अध्यक्ष इंजि.बी.एल.खमेसरा,सचिव इंजि.बसन्त दक ने विमोचन किया।

संस्थापक अध्यक्ष राजेन्द्र जैन ने जैन इंजिनियर्स सोसायटी के कन्सेप्ट के बारें में बताया कि देश के इंजिनियर विकास के नींव के पत्थर होते है। जैन समाज में निर्धनता बहुत है लेकिन वे इतने खुश है कि वे किसी के सामनें हाथ नहीं फैलाते है। जेईएस उन निर्धन परिवारों को आगे बढानें का कार्य करती है। जेईएस ने 1200 परिवारोंकी शक्षा का कार्य हाथ में लिया और उसका परिणाम यह निकला कि उसमें से कुछ चिकित्सक तो कुछ इंजिनियर बनें।

राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवसिंह मेहता ने कहा कि जेईएस के सामनें भी समाज को आगे बढानें की अनेक चुनौतियंा है। यदि कोई भी अधिवेशन उसी अनुरूप कार्य नहीं करता है तो वह अप्रसंागिक हो जाता है।

नवगठित चेप्टरों को मिला चार्टर- समारोह में नवगठित चेप्टरों औरंगाबाद, फरीदाबाद, जबलपुर,पालन्दी, जलगंाव,जोधपुर, नागपुर,उदयपुर सहित अन्य चेप्टरों को अतिथियों ने चार्टर प्रदान किया।

इंजि. आनन्द मिशकोटकर ने इंजिनियिर्स डे के अवसर पर आयोजित किये जाने वाले कार्यक्रम की जानकारी दी।

इंजि.शेलेन्द्र जैन को मिला लाइफ टाईम अचीवमेन्ट अवार्ड- आदित्य बिरला ग्रुप के निदेशक एवं ग्रासिम इन्डस्ट्रीज के सलाहकार इंजि. उज्जैन के शेलेन्द्र जैन को जीवन में अनेक कार्य किये जाने पर जेईएस की ओर से लाइफ टाईम अचीवमेन्ट अवार्ड से सम्मानित किया गया। सम्मान स्वरूप उन्हें, प्रशस्ति पत्र्, अभिनंदन पत्र् प्रदान किया गया।

प्रारम्भ में जोनल चेयरमेन पी.सी.छाबडा ने स्वागत उद्बोधन दिया। उदयपुर चेप्टर के अध्यक्ष इजि.बी.एल.खमेसरा ने बताया कि उदयपुर में आयोजित हुए इस अधिवेशन महावीर के सिद्धान्तों का समाज में समरसता एवं पर्यावरणीय सन्तुलन बनाये रखने में योगदान पर गहन चर्चा हुई।

कन्वेशन कमेटी के चेयरमेन इजि.अतुल जैन ने बताया कि गत अधिवेशन में लिये गये निर्णयों एवं उन निर्णयों पर हुए कार्यो की समीक्षा की गई, साथ ही अगले वषर् हाथ में लिये जाने वाले कार्यो पर भी चर्चाएं हुई।

इजि.आर.के.चतुर ने बताया कि अधिवेशन में भाग लेने के लिए उदयपुर के बाहर से भी अनेक प्रतिभागी पहुंचे। पहले दिन की चर्चा के बाद शाम को सांस्*तिक संध्या का आयोजन हुआ। इस अवसर पर उदयपुर चेप्टर के संरक्षक इंजि.बी.एच.बाफना, इंजि.आर.के.चतुर, इंजि.पी.एस.तलेसरा, इंजि.पी.एस.तलेसरा सहित देश भर से इन्दौर, उज्जैन,भोपाल,जयपुर, कोटा,जोधपुर,उदयपुर सहित 20 चेप्टरों के अध्यक्ष, सचिव एंव 160 से अधिक सदस्य मौजूद थे।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines , Business News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like