डीएवी एचजेडएल स्कूल ने जीता यू-17 सुब्रतो कप क्वालीफायर टूर्नामेंट

( Read 2627 Times)

04 May 19
Share |
Print This Page
डीएवी एचजेडएल स्कूल ने जीता यू-17 सुब्रतो कप क्वालीफायर टूर्नामेंट

उदयपुर। जिंक फुटबाल अकादमी टीम ने जावर माइन्स स्थित डीएवी एचजेडएल स्कूल का प्रतिनिधित्व करते हुए सुब्रतो कप अंडर-17 क्वालीफायर्स के रूप में अपना पहला बड़ा खिताब जीत लिया है। डी.पी.एस. झुंझनू में आयोजित इस टूर्नामेंट में मिली खिताबी जीत के साथ जिंक फुटबाल टीम ने राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली स्कूल स्तरीय सुब्रतो कप टूर्नामेंट में राजस्थान का प्रतिनिधित्व करने का अधिकार हासिल कर लिया है।

जिंक फुटबाल अकादमी के मुख्य कोच सुरेश कटारिया ने कहा कि जावर की इस टीम ने राज्य के 13 श्रेष्ठ स्कूलों की टीमों पर अपना वर्चस्व कायम किया और सुब्रतो कप नेशनल्स 2019-20 में राजस्थान का प्रतिनिधित्व करने का मौका प्राप्त किया। जिंक फुटबाल अकादमी की टीम ने ग्रैंड फिनाले में डीपीएल को 3-0 से हराया। यह टीम पूरे टूर्नामेंट के दौरान अजेय रही। डी.पी.एस. के खिलाफ मिडफील्डर अदनान ने छठे मिनट में पहला गोल किया। यह गोल हिमांशु द्वारा लिए गए कार्नर पर हुआ। इसके बाद दूसरे हाफ में अमन खान और सुभाष दामोर ने एक-एक गोल करते हुए अपनी टीम की जीत पक्की कर दी। इस तरह पहली बार किसी बड़े टूर्नामेंट में खेलते हुए जावर की इस टीम ने अपेक्षित सफलता हासिल की। फारवर्ड अमन खान इस टूर्नामेंट के टॉप स्कोरर रहे। अमन ने पांच मैचों में 6 गोल किए। हैरानी की बात डिफेंडर सोनू ने चार गोल किए और दूसरा स्थान हासिल किया। 

जिंक फुटबाल अकादमी की टीम ने पूरे टूर्नामेंट के दौरान शानदार रक्षात्मक काबिलियत दिखाया और पांच मैचों में सिर्फ एक गोल खाया। क्वालीफायर्स के लिए ग्रुप-सी में रखे गए जिंक फुटबाल अकादमी टीम के खिलाडिय़ों (सभी अंडर-15 आयु वर्ग के) ने अपने पहले मैच में श्रीगंगानगर के सीएच एमआरएम सीनियर पब्लिक स्कूल को 6-0 से हराया। दूसरे मैच में सीकर के प्रिंस अकादमी के खिलाफ 3-1 से जीत दर्ज की। अंतिम ग्रुप मैच में जिंक अकादमी की टीम ने जयपुर के केंब्रिज कोर्ट हाई स्कूल की टीम को 3-0 से हराया और ग्रुप में टॉप पर रहते हुए सेमीफाइनल में जगह बनाई। अंतिम-4 दौर में जिंक फुटबाल अकादमी की टीम ने अलवर की सागर स्कूल की टीम को एकतरफा अंदाज में हराया। 

अब यह टीम सुब्रतो कप में हिस्सा लेगी, जिसका आयोजन भारतीय वायु सेना द्वारा खेल मंत्रालय की मदद से किया जाता है। यह भारत का सबसे प्रसिद्ध स्कूली स्तर का फुटबाल टूर्नामेंट है। 1960 में इसकी शुरुआत हुई थी। मुख्य टूर्नामेंट का आयोजन हर साल दिल्ली में होता है। सुरेश कटारिया ने कहा कि हम इस टूर्नामेंट के लिए पिछले कई सप्ताह से तैयारी कर रहे थे। मुझे खुशी है कि हमारे खिलाडिय़ों ने बड़े स्तर पर अपने पहले ही टूर्नामेंट में अपेक्षाओं पर खरा उतरते हुए सफलता हासिल की है। अब हम राजस्थान का प्रतिनिधित्व करने जा रहे हैं और यह एक बड़ी जिम्मेदारी होगी लेकिन हम इस चुनौती के लिए पूरी तरह तैयार हैं।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Zinc News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like