BREAKING NEWS

देवगढ में चातुर्मास प्रवेश पर उमड़ा आस्था का हुजूम

( Read 756 Times)

13 Jul 19
Share |
Print This Page
देवगढ में चातुर्मास प्रवेश पर उमड़ा आस्था का हुजूम

उदयपुर । तेरापंथ प्रणेता जय जय हो, हमारे भाग्य बड़े बलवान सहित भक्ति गीतों की धून के साथ चल रहे जैन ध्वज से जुड़े वाहन के पिछे दो की पंक्ति में केशरिया गणवेश में महिलाएं - सफेद गणवेश में युवा व् बुजुर्ग जयघोष करते हुए सधे कदमो से अनुशासन रैली में चल रहे थे। नजारा था आचार्य श्री महाश्रमण के आज्ञानुवर्ती शासन श्री मुनि श्री सुरेश कुमार जी हरनावां आदि मुनिवृन्द का देवगढ कस्बे के तेरापंथ भवन में चातुर्मास प्रवेश का। मुख्य अतिथि मेवाड़ तेरापंथ कॉन्फ्रेंस अध्यक्ष राजकुमार जी फत्तावत ने कहा कि महाप्रज्ञ जन्म शताब्दी वर्ष का यह चातुर्मास देवगढ़ के लिये सौभाग्यशाली क्षण है। बारह महीने में से अगर चातुर्मास के चार महीने निकाल दिये जायें तो सब कुछ शुन्य है। इस दौरान उन्होंने तेरापंथ युवक परिषद की नवगठित कार्यकारिणी 2019-20 के लिये अध्यक्ष विकास मेहता के नेतृत्व में गोपनीयता की शपथ ली। मेवाड़ तेरापंथ कॉन्फ्रेंस अध्यक्ष राजकुमार जी फत्तावत ने सेवा संस्कार के आयामों व् संघनिष्ठा की शपथ दिलाई। अपने चातुर्मासिक प्रवेश पर यहां आयोजित स्वागत समारोह को सम्बोधित करते हुए शासन श्री मुनि श्री सुरेश कुमार जी हरनावां ने कहा कि भगवान महावीर ने 2600 वर्ष पुर्व जो सन्देश दिया मैं उसी संदेश को लेकर आया हु। मैं नोट वोट प्लॉट नहीं जिंदगी की खोट लेने आया हूं। समाज केकड़ा वृत्ति को हाशिये पर ले जाकर चातुर्मास आत्मा की आराधना का पुनीत अवसर है। दो साल पहले स्थगित हुआ चातुर्मास आज पुन: गुरु इंगित की आराधना से शुरू कर रहा हु। ये मन को पावन बनाने का पर्व है, एक सौ बीस दिन में हम मन को पावन बनाने का उपक्रम छेड़े। यही इस पावस की सार्थकता है। उन्होंने कहा कहा वर्ष 2019 में पांच सौ किलोमीटर की यात्रा का आज चातुर्मास प्रवेश के साथ सुखद समापन हुआ। मुनि श्री सम्बोध कुमार जी ने अपने सम्बोधन में चातुर्मास की सफलता के दो मंत्र देते हुए कहा : विवाद नहीं संवाद करें, खलनायक नहीं विघ्न विनायक बने। अगर हम समस्या का समाधान नहीं है तो स्वयं एक समस्या है। चातुर्मास प्रवास में समाधान की खोज करें। साथ ही उन्होंने चातुर्मास में होने वाले आयोजनों की जानकारी देते हुए हर कदम साथ चलने का आह्वान किया।  कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए नगर पालिकाध्यक्षा श्रीमति अंजना जोशी ने कहा कि नगर में मुनिवृन्द के पदार्पण से यहां विकास की सम्भावनाये खुलेगी हमारी यही आशाये है। मुनिवृन्द का हमें जो इंगित मिलेगा हम उसे साकार करने का संकल्प करते है।  तेरापंथ महिला मंडल, देवगढ़, कन्या मंडल दिवेर के समुह गीत से शुरू हुए कार्यक्रम में प्रकाश बोहरा, अशोक मेहता, हीरालाल कोठारी मदारिया, बाबूलाल श्रीमाल, हस्तीमल चंडालिया, अ.भा.ते.यू.प सदस्य जितेश पोखरणा, ते.यू.प अध्यक्ष विकास मेहता, महिला मंडल निवर्तमान अध्यक्षा श्रीमती मीना मेहता, उत्तमचंद सुखलेचा, विमल बोहरा, प्रकाश मेहता, राजेन्द्र मेहता, ओसवाल सेवा समिति अध्यक्ष शांतिलाल देसरडा, श्रीमती रेखा आच्छा ने अभिनंदन कर भावपूर्ण विचारों की प्रस्तुति दी। स्वागत सभा कार्याध्यक्ष - बसंतीलाल जी अच्छा ने किया।  मंच संचालन तेरापंथ सभा मंत्री राजेन्द्र मेहता ने किया।  महाप्रज्ञ शताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य में आज तेरापंथ भवन में ते.यू.प के तत्वावधान में मैं हु सामयिक साधक के तहत शाम 7 से 8 बजे सौ श्रावक-श्राविकाओं द्वारा एक साथ सामयिक की जायेगी।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Udaipur News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like