logo

ज्योतिबा फुले जयंती पर रक्तदान और सम्मान समारोह

( Read 3985 Times)

15 Apr 18
Share |
Print This Page
ज्योतिबा फुले जयंती पर रक्तदान और सम्मान समारोह उदयपुर, 11 अप्रेल प्रतिभा की पूछ हर जगह होती है, प्रतिभा जाति-समाज-वर्ग की मोहताज नहीं होती, प्रतिभा अपनी पहचान खुद होती है। यह बात उभर कर आई नमो विचार मंच की ओर से आयोजित विशेष कार्यक्रम ‘आत्मसम्मान’ सम्मान समारोह में संत ज्योतिबा फुले की जयंती पर अशोक नगर स्थित विज्ञान समिति में आयोजित इस कार्यक्रम में ऐसी शख्सियतों का सम्मान किया गया जो अपनी मेहनत के बूते शून्य से शिखर तक पहुंचे। चाहे व्यापार हो या खेल, अपनी प्रतिभा के बूते उन्होंने एक मुकाम बनाया। इनमें ज्यादातर वे लोग शामिल थे जिन्हें दलित और ओ.बी.सी. वर्ग का माना जाता है, लेकिन उन्होंने वर्ग विभेदों से ऊपर उठकर समाज में खुद को स्थापित किया, अपनी प्रतिभा पर भरोसा रखा, आगे बढ़ते गए, मुकाम पाया और समाज ने भी उनकी पीठ थपथपाई। आज वे इतने सक्षम हैं कि दूसरों के लिए मददगार भी हैं और आदर्श भी। वर्ग विभेदता न तो उनके कहीं आड़े आई, न ही उन्होंने कहीं आड़े आने दी। आर.सी. मेहता, दिनेश माली, जगदीश शर्मा, शेलेन्द्र चैहान, श्यामलाल कटारिया, सूर्यप्रकाश सुहालका, यशवंत मण्डावरा, गोपाल कोटिया, जीतमल चैहान, संजय चंदेल, रोहित अग्रवाल आदि अतिथि कार्यक्रम में उपस्थित थे। मंच संचालन सृष्टि कोटिया द्वारा किया गया।
इस मौके पर नमो विचार मंच के प्रदेशाध्यक्ष प्रवीण रतलिया ने कहा कि देश में चारों तरफ आरक्षण को लेकर कटुता का माहौल बन गया है। कोई आरक्षण से प्रतिभाओं के पलायन की दलील दे रहा है। इसके चलते विभिन्न वर्गों में एक-दूसरे के प्रति सम्मान की भावना कुछ कमतर होती प्रतीत हो रही है और यह देश की सेहत के लिए कतई उचित नहीं कही जा सकती। आज के इस ‘आत्मसम्मान’ समारोह ने देश की गंगा-जमुना संस्कृति के साथ यह भी साबित किया है कि चाहे खेल या हुनर, व्यापार हो नवाचार, हमारा देश प्रतिभाओं को सिर-आंखों पर बिठाता है, उस वक्त यह नहीं देखता कि वह जाति-समाज-वर्ग से है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए नमो विचार मंच की ओर से यह आयोजन किया गया।
इन-इन का हुआ सम्मान
दिलीपसिंह यादव, गौरव विश्वकर्मा, सचिन परिहार, प्रदीप चैहान, हरिश सांवरिया, संजय खटीक, तुषार चैहान, भूमि वसीटा, सोनु गुस्सर, राहुल वीरवाल, हिमांशु वर्मा, विजय साहु, रेवाशंकर माली, रोहित राठौड़, ललित सांखला, ललित कुमावत, भुपेन्द्र साहु, विजय गारू, मनोज सारसिया, महेन्द्र छापरवाल, हिमांशु खोखावत, मयंक भाटी, हेमराज सोनवाल, जे.पी. चैहान, प्रकाश पटेल आदि ऐसे लोगो का सम्मान हुआ जिन्होंने आरक्षण होते हुए भी उसके सहयोग के बिना जीवन में सफलता पाई और अपनी अलग पहचान बनाई।
उससे पूर्व दोपहर में नमो विचार मंच के युवा जिलाध्यक्ष आशीष गोयल और आनन्द जाट के नेतृत्व में उमरड़ा स्थित कालिका रिसोर्ट में विद्यार्थीयों द्वारा रक्तवीर-11 का आयोजन किया गया और छात्र-छात्राओं ने बढ़-चढ़ कर रक्तदान में हिस्सा लिया

Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Udaipur News , Editors Choice
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like