विश्व हिंदू परिषद व बजरंग दल ने मनाया अखंड भारत संकल्प दिवस

( Read 742 Times)

15 Aug 19
Share |
Print This Page

विश्व हिंदू परिषद व बजरंग दल ने मनाया अखंड भारत संकल्प दिवस

उदयपुर। विश्व हिंदू परिषद उदयपुर द्वारा अखंड भारत संकल्प दिवस कार्यक्रम का आयोजन स्थानीय शहर के राजकीय फतेह उ. मा. विद्यालय परिसर में किया गया। भारत के स्वर्णिम गौरव की पुर्नस्थापना की कामना हेतु प्रतिवर्ष के अनुसार इस वर्ष भी अखंड भारत संकल्प दिवस भव्यता पूर्वक मनाया गया। 

अखंड भारत संकल्प दिवस की अध्यक्षता बालाजी श्री निरंजनी अखाड़ा के अध्यक्ष महन्त सुरेश गिरी जी महाराज, मुख्य अतिथि श्री धर्मवीर सिंह जी सलूजा अध्यक्ष गुरुद्वारा सचखण्ड दरबार एवं मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रान्त बौद्धिक प्रमुख श्री सत्यनारायण जी कुमावत रहे। कार्यक्रम के शुभारंभ में भगवान श्रीरामचंद्र जी का दरबार, भारत माता की प्रतिमा तथा गायत्री माता की प्रतिमा पर आमंत्रित अतिथियों द्वारा दीप प्रज्जवल एवं पुष्प अर्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। तदोपरांत गणेश वंदना, तीन बार प्रणवोच्चार, एकात्मता मंत्र, विजय महामंत्र 13 बार श्रीराम जय राम जय जय राम के साथ सात बार सामूहिक रूप से उपस्थित जन समुदाय द्वारा हनुमान चालीसा का पाठ किया गया। कार्यक्रम में अतिथियों का स्वागत विश्व हिंदू परिषद के पदाधिकारियों द्वारा उपरना पहना कर स्वागत किया गया। इस अवसर पर सभी को महन्त सुरेश गिरी जी महाराज का उद्बोधन एवं आशीर्वचन प्राप्त हुआ । श्री धर्मवीर सिंह जी ने कहा कि भारत की एकता और अखंडता को कायम रखने की जिम्मेदारी संपूर्ण हिंदू समाज की है। अखंड भारत को खंडित करने का कुचक्र चाल कुछ राजनैतिक व्यक्तिगत चाल स्वार्थ के कारण अलग-अलग हिस्सों में आजादी के पहले बांट दिया गया। हिंदुस्तान सनातन संस्कृत का परिचायक है, और हिंदू राष्ट हजारों वर्ष पहले ही हिंदुत्व का उदय हुआ था, इसके बाद ईस्लाम का उदय हुआ। भारत वर्ष में कोई भी वर्तमान के मुसलमान मुसलमान नहीं है, वे सभी पूर्व के हिंदू वंशज हैं। हिंदुस्तान पूरे विश्व का आज भी मार्गदर्शन करता है और करता रहेगा। मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित श्री सत्यनारायण जी कुमावत ने कहा कि भारत के विभाजन से हमारे कई अभिन्न अंग, बंग्लादेश, पाकिस्तान, पीओके, भारत के अभिन्न अंग थे, इन्हें एक सूत्र में पिरोने का कार्य संतो के मार्गदशन में विश्व हिंदू परिषद कर रहा है। बंटवारे के समय तत्कालीन प्रधानमंत्री 24 प्रतिशत मुस्लिम आबादी के लिए 29 प्रतिशत भू-भाग मुस्लिम तुष्टिकरण के कारण दे दिया गया था यह देश का दुर्भाग्य था। असल में जो स्वतंत्रता के समय भगत सिंह, राजगुरू, चंद्रसेखर आजाद जैसे क्रांतिकारियों ने जो सपना देखा था उस सपने का वर्तमान सरकार ने धारा 370, 35ए को समाप्त कर भारत के सिरमौक उज्वलित किया है। भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर का निर्माण 2020 में चाहे फैसला जो भी हो पक्ष में होगा तो स्वागत नहीं तो संसद में कानून बनाकर अयोध्या में भगवान रामलला विराजमान होंगे। कार्यक्रम के अंत में बजरंग दल प्रान्त सहसंयोजक श्री दीपक जी प्रजापत द्वारा सभी का आभार व्यक्त किया गया । कार्यक्रम का समापन शांति मंत्र पाठ एवं जयघोष के साथ प्रसाद वितरण कर किया। उक्त अवसर पर प्रमुख रूप से वीएचपी के विभाग संगठन मंत्री सहित नगर के गणमान्य नागरिक एवं विहिप पदाधिकारी उपस्थित रहे।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Udaipur News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like