logo

राष्ट्रीय एवं राज्य स्तरीय मीडिया प्रतिनिधियों ने समझा वाटर मैनेजमेंट सिस्टम

( Read 729 Times)

14 Sep 18
Share |
Print This Page

राष्ट्रीय एवं राज्य स्तरीय मीडिया प्रतिनिधियों ने समझा वाटर मैनेजमेंट सिस्टम उदयपुर| मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे की दूरगामी एवं सकारात्मक सोच के साथ प्रदेश में जल संरक्षण के लिए प्रारंभ किए गए मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत उदयपुर जिले में हुए कार्यों का अवलोकन करने गुरुवार को देश एवं प्रदेश स्तर के समाचार पत्रों एवं इलेक्ट्राॅनिक मीडिया के प्रतिनिधि झीलों की नगरी पहुंचे।
देश की राजधानी नई दिल्ली एवं प्रदेश की राजधानी जयपुर से आए विभिन्न मीडिया घरानों के प्रतिनिधियों ने गुरुवार को जिले के झल्लारा पंचायत समिति क्षेत्र में मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत निर्मित विभिन्न जल संरचनाओं का अवलोकन किया। यहां उन्होंने अभियान के तहत हुए वाटर मैनेजमेंट सिस्टम को समझा एवं उससे हुए लाभ की जानकारी ली।
ग्रामीणों से चर्चा करते हुए मीडिया दल ने अभियान के तीसरे चरण के तहत हुए कार्यों के बारे में विस्तार से चर्चा की एवं वर्षा के बाद जलस्तर में आए उठाव एवं इन संरचनाओं से होने वाले लाभ के बारे में जानकारी ली। दल के साथ राज्य नदी बेसिन प्राधिकरण के अध्यक्ष श्रीराम वेदिरे, जिला कलक्टर बिष्णुचरण मलिक, जिला परिषद सीईओ कमर चैधरी, वाटर शेड अधीक्षण अभियंता सी.एल. सालवी सहित अन्य अधिकारी एवं झल्लारा प्रधान, मातासुला व भबराणा सरपंच सहित अन्य स्थानीय जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।
देवद में लगभग 75 हेक्टेयर क्षेत्र में 8 एमपीटी एवं कई स्ट्रगर्ड ट्रेंचेज का निर्माण हुआ है। अभियान के तहत बनी इन जल सरंचनाओं में वर्षा काल में आए पानी से भूजल स्तर में काफी उठाव हुआ है। पीजोमीटर से नापने पर पर 1 मीटर से भी कम गहराई पर जलस्तर मिला जो कि इन संरचनाओं के निर्माण से पहले 15 मीटर गहराई तक था।
मातासुला ग्राम पंचायत के जड़ाव में 20 हेक्टेयर वन भूमि पर लगभग 25000 पौधों का रोपण किया गया है। यहां पर 3 एमपीटी भी बनाये गए हैं। जिला वन अधिकारी (दक्षिण) आर के जैन ने अभियान के तहत हुए कार्यों के बारे में मीडिया दल को विस्तार से बताया।
देश के लिए मॉडल है अभियान
फिल्ड विजिट पर रवाना होने से पहले नगर परिषद सभागार में मीडिया दल के प्रतिनिधियों को राज्य नदी बेसिन प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री राम वेदिरे ने संबोधित किया। प्रजेंटेशन के माध्यम उन्होंने प्रदेश में अभियान के तीनों चरणों में हुए कार्यो एवं उनसे मिले सकारात्मक परिणाम के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि तीन चरणों में प्रदेश में लगभग 12 हजार गांवों में 4 लाख कार्य हुए हैं। इससे भूमिगत जलस्तर में औसतन 5 फीट की बढ़ोतरी हुई है। करीब डेढ़ करोड़ पौधे लगाकर 5 साल तक सुरक्षा की व्यवस्था की गई है। अभियान की शानदार सफलता से अब इसे देशभर में लागू करने के प्रयास किये जा रहे हैं। दक्षिण अफ्रीका एवं ऑस्ट्रेलिया ने भी विशेषज्ञों की सेवाएं मांगी हैं।
मीडिया दल में ये है शामिल
इस दल में राष्ट्रीय स्तर के मीडिया प्रतिनिधियों में एएनआई के रिपोर्टर सुरेन्द्रसिंह यादव व केमरामेन भूपालसिंह नेगी, नवभारत टाइम्स से रिपोर्टर मोहित चन्देला, पंजाब केसरी से संवाददाता कुणाल कश्यप व फोटोजर्नलिस्ट सुभाष चैपड़ा, द ट्रिब्यून के ब्यूरोचीफ कल्याण बारोह, अमर उजाला के डिप्टी एडिटर अमित शर्मा, राष्ट्रीय सहारा दैनिक के वरिष्ठ संवाददाता संजय तुतेजा, यूनिवार्ता यूएनआई के सत्यप्रकाश, पीटीआई-भाषा के अहमद नुमेन तथा सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के नई दिल्ली स्थित राजस्थान सूचना केन्द्र के अधिकारी गोपेन्द्रनाथ भट्ट शामिल है।
इसी प्रकार राज्य स्तरीय पत्रकार दल में दैनिक भास्कर के श्यामराय शर्मा, जनसत्ता के राजीव जैन, हिन्दुस्तान टाईम्स पी. श्रीनिवासन, यूएनआई के अजय गुप्ता, दैनिक नवज्योति के सुरेश योगी, दैनिक राष्ट्रदूत के जयराम शर्मा, इंडियन एक्सप्रेस के हमजाखान, इंडिया टूडे के रोहित परिहार, समाचार जगत के विरेन्द्रसिंह राठौड़, टाइम्स आॅफ इंडिया की रितु दत्ता तथा सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के संयुक्त निदेशक (एमजेएसए) अरुण जोशी शामिल है।
Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Udaipur News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like