logo

औद्योगिक एवं व्यावसायिक समस्या निराकरण शिविर का आयोजन

( Read 662 Times)

11 Aug 18
Share |
Print This Page

औद्योगिक एवं व्यावसायिक समस्या निराकरण शिविर का आयोजन उदयपुर । उदयपुर चैम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इण्डस्ट्री द्वारा जिला उद्योग केन्द्र के संयुक्त तत्वावधान में यूसीसीआई भवन के सभागार में मासिक औद्योगिक एवं व्यावसायिक समस्या निराकरण शिविर का आयोजन किया गया।
आरम्भ में अध्यक्ष श्री हंसराज चौधरी ने शिविर में उपस्थित सरकारी विभागों के अधिकारियों तथा विभिन्न औद्योगिक क्षेत्र से आये उद्यमियों एवं व्यवसायियों का यूसीसीआई में स्वागत किया। अध्यक्ष श्री हंसराज चौधरी ने रीको द्वारा पूर्व में आयोजित की जाने वाली ग्रिवेन्स रिड्रेसल कमेटी की बैठक को पुनः शुरू किये जाने का सुझाव दिया।
शिविर का संचालन करते हुए वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्री आशीष सिंह छाबडा ने सबसे पहले रीको से सम्बन्धित समस्याओं एवं प्रकरणों को लिया।
मैसर्स लक्ष्मी इंजीनियरिंग वक्र्स द्वारा मादडी औद्योगिक क्षेत्र में स्थित उनके फैक्ट्री परिसर में बारिश का पानी भरने की समस्या रखी गयी। रीको के क्षेत्रीय अधिकारी श्री मोहनलाल ने बताया कि सडक एवं ड्रेनेज की तुलना में फैक्ट्री परिसर का भूतल नीचाई पर होने के कारण बारिश का पानी फैक्ट्री परिसर में जमा हो जाने की समस्या पेश आ रही है।
प्रकरण पर चर्चा के उपरान्त लक्ष्मी इंजीनियरिंग वक्र्स के प्रतिनिधियों एवं रीको के अधिकारियों द्वारा मौका मुआयना कर समस्या का हल निकालने का निर्णय लिया गया।
मैसर्स कुन्दन स्विचगीयर्स द्वारा मादडी औद्योगिक क्षेत्र में रोड नंबर १ पर स्ट्रीट लाइट बन्द होने तथा जल निकासी की व्यवस्था नहीं होने की समस्या रखी गयी।
इस प्रकरण पर चर्चा के उपरान्त रीको के अधिकारियों द्वारा कुन्दन स्विचगीयर्स के प्रतिनिधियों के साथ रोड नम्बर १ पर इन्फ्रास्ट्रक्चर व्यवस्थाओ की जाँच कर शीघ्र कार्यवाही किये जाने का आश्वासन दिया गया।
मैसर्स इटैलिका फर्नीचर के प्रतिनिधि द्वारा कलडवास औद्योगिक क्षेत्र में रीको का प्लॉट अन्य औद्योगिक इकाई को स्थानांतरित किये जाने पर उक्त भूखंड पेटे जमा सिक्योरिटी डिपाजिट राशि का रिफण्ड प्राप्त करने में पेश आ रही समस्या प्रस्तुत की।
रीको के अधिकारियों द्वारा इस प्रकरण की जाँच कर वस्तुस्थिति से अवगत कराये जाने का आश्वासन दिया गया।
मादडी औद्योगिक क्षेत्र में टेलीफोन एक्सचेंज के सामने एवं अन्य कई स्थानों पर चाय-नाश्ते के ठेले वालों द्वारा अवैध अतिक्रमण किये जाने की समस्या रखी गई। इस सन्दर्भ में चर्चा के उपरान्त समझाइश से नहीं मानने पर पुलिस बल के प्रयोग द्वारा अतिक्रमणकारियों को हटाए जाने का निर्णय लिया गया।
कलडवास औद्योगिक क्षेत्र से सम्बन्धित समस्याओं के सन्दर्भ में मानद महासचिव श्री केजार अली द्वारा जल निकासी का मेन नाला चोक होने तथा रोड नम्बर ४ पर ड्रेनेज बन्द होने के कारण जल निकासी अवरूद्ध होने की समस्या रखी गयी।
प्रकरण पर चर्चा के दौरान रीको के अधिकारियों द्वारा कलडवास औद्योगिक क्षेत्र के रिपेयर एवं मेनटेनेन्स कार्यों हेतु कुल बजट प्रस्तावित कर मुख्यालय से अनुमति प्राप्त करने बाबत जानकारी दी गयी।
गुडली चैम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इण्डस्ट्री के अध्यक्ष श्री एस.एल. चेलावत ने गुडली औद्योगिक क्षेत्र में कुल १७० स्ट्रीट लाईट्स में से लगभग १०० लाईटें बंद होने की समस्या रखी। रीको के अधिकारी द्वारा जानकारी दी गयी कि सभी औद्योगिक क्षेत्रों में एल.ई.डी. लाईट्स लगाए जाने हेतु मुख्यालय से अनुमति प्राप्त हो गयी है तथा दीपावली तक यह प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी।
कलडवास औद्योगिक क्षेत्र के विस्तार की योजना पर चर्चा के दौरान रीको के अधिकारियों द्वारा दीपावली तक उद्यमियों को भूखण्डों पर कब्जा दिए जाने बाबत जानकारी दी गयी। रीको द्वारा ७० प्रतिशत भूखण्ड आवण्टन द्वारा तथा शेष ३० प्रतिशत नीलामी प्रक्रिया द्वारा उद्यमियों को दिए जाने की जानकारी दी गयी। ११३ भूखण्ड युवा उद्यमियों के स्टार्ट-अप प्रोजेक्ट हेतु आरक्षित किये जाने की भी रीको के अधिकारियों द्वारा जानकारी दी गयी।
रामा फॉस्फेट के श्री के. पी. सुखतांकर द्वारा उमरडा औद्योगिक क्षेत्र में सडक क्षतिग्रस्त होने की समस्या रखी गयी। पी.डब्लू.डी. के अधिकारी द्वारा इस बाबत शीघ्र कार्यवाही करने का आश्वासन दिया गया।
टेलीफोन विभाग से सम्बन्धित प्रकरणों से सन्दर्भ में विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों में वर्षा ऋतु के दौरान टेलीफोन लाईन ठप होने एवं इन्टरनेट सेवाएं बाधित होने की समस्याएं रखी गयी। उपाध्यक्षा डॉ. अंशु कोठारी ने टेलीफोन कनेक्शन कटवाने पर सिक्योरिटी राशि का रिफण्ड प्राप्त नहीं होने की समस्या रखी गई।
बी.एस.एन.एल. के अधिकारियों द्वारा बन्द टेलीफोन तुरन्त चालू करवाए जाने का आश्वासन दिया गया। शिविर के दौरान बी.एस.एन.एल. द्वारा प्रदान किये जा रहे इन्टरनेट सुविधा प्लान्स पर भी चर्चा की गयी। बी.एस.एन.एल. के अधिकारियों ने बताया कि फाइबर केबल पर इन्टरनेट कनेक्शन देने के लिए प्लान को व्यवहारिक बनाया जा रहा है।
इसी क्रम में फैक्ट्रीज एण्ड बॉयलर्स विभाग द्वारा उद्योगों को प्रदान की जा रही जागरूकता एवं प्रशिक्षण सुविधाओं पर चर्चा की गयी।
शिविर के दौरान प्रदूषण नियंत्रण विभाग के अधिकारियों ने जानकारी दी कि आयड नदी में हानिकारक अपशिष्ट प्रवाहित करने के दोषी दो उद्योगों को क्लोजर नोटिस जारी कर दिए गए हैं।
शिविर में अन्य सरकारी विभागों से सम्बन्धित समस्याएं भी रखी गयी।
शिविर के समापन पर मानद महासचिव श्री केजार अली कुराबडवाला ने सरकारी विभागों के अधिकारियों तथा शिविर में भाग लेने वाले उद्यमियों एवं व्यवसायियों का आभार ज्ञापित किया।

Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Udaipur News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like