logo

’’नम आखों में इन्तजार आज की गाँधी परिवार का’’

( Read 456 Times)

11 Aug, 18 05:50
Share |
Print This Page
’’नम आखों में इन्तजार आज की गाँधी परिवार का’’ उदयपुर । उदयपुर जिले की खेरवाडा तहसील के ग्राम पंचायत छाणी के अन्तर्गत धनोल गाँव के आदिवाासी परिवार के सदस्यों को आज भी पूरा यकीन है कि पूर्व प्रधानमंत्री स्वं राजीव जी गांधी के परिवार से कोई न कोई सदस्य फिर से हमारे इस गांव में आऐगा और उनके दुःख दर्द को सुनेगा।
यह वहीं गांव है जहां ८ अगस्त १९८५ का पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी ने अपने निश्चित कार्यक्रम में अचानक बदलाव कर लगभग ३ किलोमीटर कच्चे कीचड युक्त पगदण्डी रास्ते से पैदल चलकर, कच्चे झोपडे में निवास कर रहे कुराभाई आदिवासी के यहाँ अपनी पत्नी सोनिया गाँधी के साथ पहुंचे थे। यहाँ स्वं राजीव गांधी ने आदिवासी परिवारों की माली हालात, रहन-सहन, खान-पान इत्यादि से रूबरू हुए थे। इसी आदिवासी परिवार के झोपडी में उनके खाने हेतु रखी गई कागणी-कुरी (छोटे अनाज) की रोटी खाकर आदिवासी जीवनवृत को नजदीकी से समझा था।
उसी का परिणाम था कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव जी गांधी ने दिल्ली जाकर सम्पूर्ण जनजाति क्षैत्र में १.५० रू. किलो के सस्ते भाव से गेहूँ वितरण करवाने की योजना को मुर्तरूप दिया। इसी यात्रा के दौरान उन्होंने गरिबों को आवास उपलब्ध करवाने हेतु, इन्दिरा आवास योजना, सुखे खेतो में हरियाली के लिए जीवनधारा कुआ योजना, घरों में बिजली हेतु कुटीर ज्योति योजना, सस्ता अनाज सहित कई ग्रामोत्थान हेतु जनकल्याणकारी योजनाओं को प्रारम्भ करने हेतु घोषणा की थी।
पूर्व प्रधानमंत्री श्री राजीव गाँधी की उस ऐतिहासिक यात्रा को अविस्मरणीय बनाने के लिये गांधी ग्राम जागरण अभियान के संयोजक एवं पूर्व जिला उपप्रमुख उदयपुर, लक्ष्मीनारायण पण्डया की पहल से उसी ग्राम धनोल (छाणी) में ८ अगस्त २००४ को विशाल मार्बल शिलालेख स्थापित कर, राजीव गाँधी स्मृति मेले का आयोजन किया गया था। उसी क्रम को जारी रखते हुए प्रतिवर्ष ८ अगस्त को राजीव गाँधी की ऐतिहासिक यात्रा के स्मृति में ग्राम धनोल में ग्रामीण राजीव यात्रा स्मृति कार्यक्रम आयोजित किया जाता रहा है।
आज ८ अगस्त बुधवार को ग्राम धनोल (छाणी) में “राजीव गाँधी यात्रा स्मृति दिवस” का आयोजन डा. दयाराम परमार, पूर्व मंत्री राजस्थान सरकार के मुख्य आतिथ्य एवं गाँधी ग्राम जागरण अभियान के संयोजक एवं पूर्व जिला उप प्रमुख लक्ष्मी नारायण पण्ड्या की अध्यक्षता में किया गया।
सर्वप्रथम सभी अतिथियों एवं ग्रामीणों ने श्री राजीव गाँधी की तस्वीर पर माल्यार्पण कर श्रंद्वाजलि दी। तत्पश्चात् राजीव गाँधी के यात्रा के दौरान साथ रहे सोमाराम पारगी ने उस समय के संस्मरण सुनाये। जिस पर सभी की आँखे नम हो गई।
मुख्य अतिथि डा. दयाराम परमार ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि स्व. राजीव गांधी २१ वीं सदी में ले जाने वाले विकास पुरूष थे। उनकी दूर दर्शिता से ही आज भारत देश में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी का तेज गति से विकास हो पाया है।
उपस्थित ग्रामीणों ने राजीव गाँधी परिवार से सोनिया गांधी, राहुल गाँधी तथा प्रियंका गाँधी को उनके गांव में एक बार बुलाने हेतु अपनी भावना व्यक्त करते हुए उनकी भावना को गाँधी परिवार तक पहुंचाने की गुहार की। जिस पर गाँधी ग्राम जागरण अभियान के संयोजक लक्ष्मीनारायण पण्डया ने उनकी भावना को राहूल गाँधी तक पहुँचाने का आश्वासन दिया। कार्यक्रम में सुन्दरा सरपंच शंभुलाल खराडी, बंशीलाल जैन, कांग्रेस प्रवक्ता गणेशलाल परमार, बंशीलाल पारगी ने विचार व्यक्त किये।
कार्यक्रम का संचालन भास्कर जोशी ने किया।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Udaipur News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like