logo

निसंतान दम्पतियों की जागरूकता के लिए आंगनबाडी

( Read 622 Times)

17 Mar 19
Share |
Print This Page
निसंतान दम्पतियों की जागरूकता के लिए आंगनबाडी

उदयपुर आंगनबाडी कार्यकर्ताओं का महिला सषक्ति करण में बहुत बडा योगदान है क्यों कि ऑगनबाडी कार्यकर्ता ग्रामीण क्षेत्रों में निःसंतान का दंष झेल रही महिलाओं को जागरूक कर उन्हें मातृत्व सुख के साथ साथ समाजिक रूढिवादिता से भी मुक्ति दिला सकती है। यह कहना है कि पेसिफिक आईवीएफ की सांइटिफिक डायरेक्टर डाँ.मनीषा वाजपेयी का।

डॉ. वाजपेयी ने ऑगनबाडी कार्यकर्ताओं के सम्मेलन को सम्बोधित करत हुए कहा कि गॉव की महिलाओं में निःसंतानता को लेकर कई कारण हो सकतें है, जैसे षादी के एक साल तक गर्भधारण नहीं होना,लगातार छः माह से अघिक टी.बी. होने पर या फिर बार बार गर्भपात होना आदि। पेसिफिक आ*वीएफ सेंटर पर मौजूद विश्व स्तरीय सुविधाओं के साथ साथ सबसे कम खर्च पर निःसंतानता का इलाज कराया जा सकता है।

डॉ. वाजपेयी ने कहा कि ऑगनबाडी कार्यकर्ता निःसंतान महिलाओं को जागरूक करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। निःसंतानता को लेकर गॉवों में कई रूढिवाद और धारणाऍ है। एक धारणा इसमें होनें वाले पैसों के खर्चे को लेकर भी है। डाँ.वाजपेयी नें ग्रामीण महिलाओं की आ*वीएफ के मँहगे इलाज को लेकर बनी भ्रांति को भी दूर करते हुए कहा कि पेसिफिक आ*वीएफ सेंटर पर ये इलाज बेहद ही सस्ता और सुलभ हैं।

इस अवसर पर पेसिफिक मेडिकल काँलेज एंड हाँस्पीटल की डायरेक्टर प्रीति अग्रवाल नें बताया कि पेसिफिक हाँस्पीटल में आ*वीएफ से सम्बन्धित सभी जानकारी निःषुल्क प्राप्त की जा सकती है तथा पेसिफिक आ*वीएफ सेंटर पर निःसंतानता का आ*वीएफ द्वारा इलाज पूरें भारत में सवसें कम खर्च पर किया जा रहा है। हर साल सैकेडों निःसंतान दम्पति पेसिफिक आ*वीएफ सेंटर पर अपना इलाज सफलता पूर्वक करवा रहें है। अग्रवाल ने कहा कि मैं ऑगनबाडी कार्यकर्ताओं से अनुरोध करना चाहूगी कि वह ग्रामीण महिलाओं में इस सम्वन्धित अधिक जानकारी दें।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Udaipur News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like