logo

तीन बार कम स्कोर बनाने का मतलब खराब फार्म नहीं : रोहित

( Read 6499 Times)

15 Feb, 18 11:30
Share |
Print This Page

तीन बार कम स्कोर बनाने का मतलब खराब फार्म नहीं : रोहित भारत के उप कप्तान रोहित शर्मा खुश हैं कि उनकी फार्म में वापसी टीम की दक्षिण अफ्रीकी सरजमीं पर मिली पहली वनडे सीरीज जीतने के दौरान हुईं है।
लेकिन साथ ही उन्होंने कहा कि वह पिछली कम स्कोर वाली पारियों से भी परेशान नहीं हैं।रोहित ने कल पांचवें वनडे में 115 रन की विजेता पारी खेली और भारत की 73 रन की जीत में अहम भूमिका अदा की जिससे टीम ने छह मैचों की सीरीज में 4-। की अजेय बढ़त बना ली। श्रृंखला का अंतिम मुकाबला 16 फरवरी को सेंचुरियन में होगा।
उनका यह शतक अहम मोड़ पर आया है क्योंकि अभी तक उनकी फार्म को लेकर काफी सवाल उठ रहे थे। इस खिलाड़ी ने इस 17वें वनडे शतक से दक्षिण अफ्रीका में अपने रिकार्ड में भी सुधार किया, इससे पहले दौरे के पहले चार मुकाबलों में उन्होंने केवल 40 रन बनाये थे। रोहित ने कहा, मैं तीन मैचों में आउट हुए, आप तीन मैचों के बाद आप कैसे कह सकते हो कि मैं खराब फार्म में हूं।
आप लोग एक मैच के बाद ही किसी को अच्छी फार्म में कर देते हो और अगर कोईं तीन मैचों में अच्छा नहीं कर पाता तो आप कह देते हो कि वो खराब फार्म में है।उन्होंने दक्षिण अफ्रीका में अपने पिछले खराब रिकार्ड का जिा करते हुए कहा, 2013 में यह अलग बात थी। मैं तब मध्याम बल्लेबाज से सलामी बल्लेबाज की भूमिका में आया था। मैं अब जिस तरह से बल्लेबाजी कर रहा हूं, इसमें काफी निखार हुआ है।
2013 से पहले या 2013 में जो कुछ हुआ, उसे भूल जाओ।
रोहित ने कहा, इस तरह के हालात आते हैं, जब आप अपनी पूरी कोशिश करते हो, लेकिन चीजें आपके हिसाब से नहीं होती। इसलिये उस समय अहम यही होता है कि आप रिलैक्स करो और इस बारे में सोचो कि अगले मैच में आपको क्या करने की जरूरत है क्योंकि हर दिन नया दिन होता है। उन्होंने साथ ही कहा, मेरा शतक अब बन गया है, जो बीती बात हो गया है और अब जो मैं अगला मैच खेलूंगा, तो उसमें यह शतक इतना मायने नहीं रखेगा। इसलिये वर्तमान में बने रहना ज्यादा महत्वपूर्ण है और ड्रेसिंग रूम में हम इसी के बारे में बात करते हैं।
उप कप्तान रोहित शर्मा को लगता है कि टीम ने मौजूदा सीरीज में दक्षिण अफ्रीका को पस्त कर विदेशों में सबसे बड़ी वनडे सीरीज अपने अपने नाम की।भारत ने बीती रात पांचवां वनडे 73 रन से जीतकर छह मैचों की सीरीज में 4-1 से अजेय बढ़त बना ली है। अंतिम मैच सेंचुरियन में 16 फरवरी को खेला जायेगा।रोहित ने कल 115 रन की शानदार शतकीय पारी खेली, उन्होंने कहा, निश्चित रूप से, मुझे लगता है कि यह विदेशों में वनडे मे हमारी सबसे बड़ी जीत है।
यह अच्छी जीत है क्योंकि यह द्विपक्षीय सीरीज थी। इससे पहले हमने आस्ट्रेलिया में 2007-08 में सीबी त्रिकोणीय सीरीज जीती थी। हालांकि वो श्रृंखला भी काफी कठिन थी।
उन्होंने कहा, मेरे लिये, दोनों की तुलना करना काफी मुश्किल है।
मुझे लगता है कि यह सीरीज हमारे लिये काफी मायने रखती है। हम जिस तरह से पहले मैच से खेले थे, उसे देखकर साफ पता चलता है कि हमने सीरीज में दबदबा बनाया और नतीजा भी सबके सामने है। रोहित ने कहा कि मुश्किल परिस्थितियों के बावजूद टीम ने पूरी तरह दबदबा बनाया जिससे यह जीत काफी विशेष बन गयी है।
उन्होंने कहा, यह जीत सबमें बिलकुल ऊपर रहेगी। 25 वर्षो के बाद हमने दक्षिण अफ्रीका में सीरीज जीती है। ािकेट खेलने के लिये यह बिलकुल भी आसान जगह नहीं है, निश्चित रूप से सीरीज जीतने के लिये तो यह बिलकुल आसान जगह नहीं है।
मुझे लगता है कि इसके लिये काफी श्रेय खिलाड़ियों को जाता है। रोहित ने कहा, जिस भी खिलाड़ी को मौका मिला, उसने हाथ उठाकर चुनौती अपने कंधों पर ली। अगर आप पूरी वनडे सीरीज को देखो तो इसमें हमारा प्रदर्शन दबदबे वाला था। इससे बतौर टीम विदेशों में जाने के लिये और वहां सीरीज जीतने के लिये हमारा आत्मविश्वस बढ़ेगा ही। उन्हें साथ ही यह भी लगता है कि टेस्ट सीरीज भी एकतरफा मुकाबला नहीं थी जिसमें भारतीय टीम।-2 से हार गयी थी।उन्होंने कहा, मेरा मानना है कि टेस्ट सीरीज बहुत ही करीबी थी। यह किसी भी तरफ जा सकती थी। जो भी हो, हमें अपने प्रदर्शन पर गर्व है और आज जो हमने हासिल किया, उस पर हमें गर्व है।
Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines , Sports News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like