logo

युवाओं को स्वरोज़गर प्रषिक्षण के लिए प्ररित करे

( Read 5936 Times)

14 Mar 18
Share |
Print This Page

झालावाड़,ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान (पीएनबी आरसेटी) झालरापाटन द्वारा आयोजित प्रशिक्षणों में बेरोजगार युवाओं, महिला-पुरूषों को अधिक से अधिक संख्या में रोजगार परक प्रशिक्षण दिए जाएं। जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी की अध्यक्षता में सोमवार को मिनी सचिवालय के सभागार में जिला स्तरीय आरसेटी सलाहकार समिति की बैठक आयोजित की गई। जिला कलक्टर ने कहा कि पीएनबी आरसेटी बैंक द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में युवाओं को स्वरोजगार हेतु आवासीय एवं गैर आवासीय प्रशिक्षण कार्यक्रम नियमित रूप से आयोजित किए जाते हैं।
उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में रह रहे 18 वर्ष से अधिक युवाओं से अपील की है कि वे निगम द्वारा आयोजित इस प्रकार के रोजगारपरक प्रशिक्षण कार्यक्रमों में अधिक से अधिक संख्या में भाग लेकर अपने जीवन को खुशहाल बनाएं। उन्होंने बताया कि प्रशिक्षण के पश्चात् अगर कोई भी युवा स्वरोजगार हेतु पात्रता रखने पर बैंक से ऋण के लिए आवेदन कर सकता है।
बैठक में उपखण्ड अधिकारी असनावर मनीषा तिवारी ने कहा कि आरसेटी द्वारा प्रशिक्षण संबंधी जानकारी के लिए पंचायत समिति, उपखण्ड कार्यालय एवं नगर पालिकाओं में फ्लेक्स और अन्य प्रचार माध्यमों से प्रचार-प्रसार करवाया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण के बाद रोजगार उपलब्ध हो सके इस प्रकार के प्रयास किए जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि बेरोजगार युवाओं, महिला-पुरूषों को अच्छी गुणवत्ता का प्रशिक्षण दिया जाना चाहिए ताकि प्रशिक्षण के बाद उन्हें अच्छा रोजगार मिल सके। उन्होंने स्थानीय लोगों को भी इस प्रशिक्षण कार्यक्रम से जोड़ने का सुझाव भी दिया। उन्होंने मुद्रा ऋण योजना का प्रचार-प्रसार करने के साथ ही योजना के तहत प्राप्त आवेदन पत्रों का सौ फीसदी निस्तारण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक प्रशिक्षण प्राप्त ऐसे लोगों की सफलता की कहानियां प्रकाशित की जाए जिन्हांेने प्रशिक्षण के पश्चात् अपने सीखे गए गुण से न सिर्फ स्वयं के लिए आमदनी का स्रोत तैयार किया बल्कि दूसरों के लिए भी प्रेरणा का स्रोत बने हैं। बैठक में सहायक निदेशक सूचना एवं जनसम्पर्क हेमन्त सिंह ने कहा कि खेती से जुड़े प्रशिक्षण कार्यक्रमों में कृषि विशेषज्ञों के साथ-साथ उन महिला एवं पुरूष कृषकों को भी सम्मिलित करने का सुझाव दिया जो कि राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर पर बेहतर कृषि कार्यों के लिए सम्मानित हो चुके हैं। उन्होंने सुझाव दिया कि प्रशिक्षित युवा अगर कोई स्वरोजगार प्रारंभ कर उत्पाद तैयार करता है तो उसके उत्पादों की मार्केटिंग की समुचित व्यवस्था भी की जाए। बैठक में सेवानिवृत डीन मधुसूदन आचार्य ने सुझाव दिया कि राजीविका की शहरी व ग्रामीण स्वयं सेवी संस्थाओं की सभी महिलाओं को पीएनबी आरसेटी द्वारा प्रशिक्षण प्रदान कर उन्हें हुनरमंद बनाकर उनके जीवन को उन्नत बनाया जाए। उन्होंने कहा कि वर्तमान में संचालित पीएनबी आरसेटी द्वारा संचालित प्रशिक्षण कार्यक्रमों में फल एवं सब्जी प्रसंस्करण, स्ट्रोबेरी उत्पादन, आर्गेनिक फार्मिंग के प्रशिक्षण आयोजित किए जाएं। पीएनबी आरसेटी निदेशक वैभव निकम ने बैठक की कार्ययोजना प्रस्तुत करते हुए बिन्दुवार प्रगति की जानकारी से अवगत कराया। बैठक में जिला रसद अधिकारी प्रतिभा देवठिया, केवीके अध्यक्ष अर्जुन वर्मा, जिला रोजगार अधिकारी मनोज कुमार पाठक अधिकारी उपस्थित थे।
Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Rajasthan News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like