logo

एनएमसी का समर्थन, लेखी पर बिफरे डाक्टर

( Read 3297 Times)

13 Jan 18
Share |
Print This Page

नई दिल्ली । नई दिल्ली लोकसभा क्षेत्र की सांसद मीनाक्षी लेखी को नेशनल मेडिकल कमीशन (एनएमसी) का समर्थन करना महंगा पड़ गया। बिल का समर्थन कर जाने अंजाने उन्होंने इसके विरोध की आग को हवा दे दिया। इसका असर भी तत्काल ही हुआ और उन्हें इसका विरोध झेलना पड़ गया। उन्होंने इस विषय पर डॉक्टरों का पक्ष समझने के लिए जल्द ही मिलने को बुलाया है। मामला डा. राम आरएमएल अस्पताल का है जहां वह कॉलेज की एनुअल बुकलेट के विमोचन के लिए पहुंची थीं।अस्पताल फैकल्टी एसोसिएशन के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि डा. आरएमएल पीजीआई एमईआर के एनुअल बुकलेट रिलीज के लिए मीनाक्षी को बुलाया गया था। रिलीज के बाद वह सरकार द्वारा लोकसभा में पेश नेशनल मेडिकल कमीशन बिल के समर्थन में डॉक्टरों को सलाह देने लगी। उन्होंने एंटी बायोटिक के बजाए हल्दी वाला दूध पीने की नसीहत देते हुए तर्क दिया कि पहले के जमाने में इसी से सर्दी जुकाम जैसी बीमारियां ठीक हो जाती थीं। इसके अलावा उन्होंने ब्रिज कोर्स का समर्थन करते हुए तर्क दिया कि इससे एलोपैथीक डॉक्टरों का बोझ कम होगा। लेकिन इसी दौरान वहां उपस्थित डॉक्टरों ने इसी से संबंधित कुछ सवाल पूछ डाले। लेखी उन सवालों का जवाब नहीं दे पाई। इसके बाद उन्होंने डॉक्टरों को इस विषय पर जल्द ही मिलने की बात कही।
Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : National News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like