GMCH STORIES

पूजा अरोडा ब्लाईंड हत्या केस का किया पर्दाफाश

( Read 6669 Times)

26 Nov 22
Share |
Print This Page
पूजा अरोडा ब्लाईंड हत्या केस का किया पर्दाफाश

हाय पुलिस अधीक्षक केसर सिंह शेखावत ने जानकारी देते हुए बताया कि

 1 जून 2022 को शम्भूपुरा हाईवे के पास एक अज्ञात महिला की लाश मिली थी। अज्ञात महिला की शिनाख्त पूजा अरोडा पत्नी ललित अरोडा निवासी गुरुद्वारा मैन रोड, कोटा जंक्शन थाना भीमगंजमण्डी जिला कोटा शहर के रूप में हुई थी। जिसका पोस्टमार्टम करवाया जाकर लाश परिजनो को सुपुर्द कर दी गई थी। मृतका पूजा अरोड़ा के अज्ञात हत्यारो की तलाश हेतु प्रवीण कुमार जैन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कोटा शहर के निर्देशन एवं कालूराम वर्मा उप अधीक्षक पुलिस व श्री शंकर लाल पुलिस उप अधीक्षक केन्द्रीय वृत जिला कोटा शहर के नेतृत्व में थानाधिकारी थाना कुन्हाडी  गंगा सहाय शर्मा पुलिस निरीक्षक व साईबर सैल में कार्यरत  जमशेद खान सहायक उप निरीक्षक व कांस्टेबिल को लेकर एक टीम का गठन किया। टीम द्वारा लगातार छ माह के अथक प्रयास के बाद मृतका पूजा अरोडा की हत्या करने वाले कार चालक प्रमोद कुमार सिंह को गिरफ्तार किया गया।

 एक जून 22 को  भगवानसहाय हैडकानि 296 चेतक 5 इंचार्ज जो पूर्व से ही इलाका गश्त में है ने जरिये मोबाईल सूचना दी कि शंभूपुरा हाईवे के पास एक अज्ञात महिला की डेड बाड़ी पड़ी है, उक्त सूचना पर टीम कोटा डाबी मैन रोड फायरिंग रेंज के सामने पहुचां जहां पर रोड के किनारे गडडे झाडियों में एक अज्ञात महिला उम्र करीब 35 साल की डेड बाडी पडी नजर आई लाश नजर आई निरीक्षण किया तो सिर पश्चिम दिशा व पैर पूर्व दिशा में रोड के किनारे गड्ढे में चित्त लेटी हुई है, सिर के बाल खुले हुऐ है गले में एक कपड़े का स्टाल लाल नीले सफेद धब्बेदार रंग का गले के चारो तरफ लिपटा हुआ है, नाक पर कोई आभूषण नहीं है गहरे स्काई ब्लू रंग का टापर पहने हुए तथा काले रंग की ब्रा पहने हुए है दोनो हाथ साईडों मे फैले हुऐ है बाये हाथ की तर्जनी अंगुली में एक सोने जैसी अंगूठी पहने हुए है अंगूठी पर गोल आकृति बनी हुई है, महिला ने काले रंग का लैंगिन पहने हुऐ है व काले रंग की इलास्टिक पटटे वाली अंडरवियर पहने हुए है तथा बाये पैर के टखने के उपर काला डोरा पहन रखा है महिला की लाश को गढढे से बाहर निकालकर  पुलट कर दिखाया  मृतका की लाश पर चोटो का अवलोकन किया तो सिर में ललाट पर चोट का निशान है जिससे खून निकल रहा है, गले में काले नीले रंग का निशान पड़ रहा है तथा नाक से खून निकल रहा है तथा पीठ पर रगड व खरोचनुमा निशान है व महिला की लाश की चमडी निकल रही है मौके पर एफएसएल मोबाईल यूनिट डाग स्क्वाड को बुलाकर घटनास्थल व लाश की शिनाख्त के प्रयास किये गये आने जाने वाले लोगो से मृतका की शिनाख्त के  काफी प्रयास किये गये मृतका की शिनाख्त नहीं होने पर मृतका की लाश की फोटोग्राफी व वीडियोग्राफी श्री दामोदर कानि के द्वारा डिजीटल कैमरे से करवाई गई। मृतका के गले पर लगा स्टाल को बतौर वैजह सबूत जब्त किया गया तथा मृतका की बाये हाथ की तर्जनी अंगुली में पहनी हुई सोने जैसी अंगूठी को बतौर वजह सबूत जब्त किया गया। मृतका की लाश को पोस्टमार्टम हेतु एमबीएसएच मोर्चरी में रखवाई गई। दिनांक दो जनवरी 2022 को  ललित अरोडा पुत्र श्री कुन्दनलाल जाति पंजाबी निवासी गुरूद्वारा मैन रोड, कोटा जंक्शन थाना भीमगंजमण्डी जिला कोटा शहर द्वारा मृतका की पहचान अपनी पत्नी पूजा अरोड़ा के रूप में की। जिस पर मृतका का पोस्टमार्टम करवा कर लाश को अंतिम संस्कार हेतु परिजनों को सुपुर्द की गई।घटना का खुलासा

 

मृतका पूजा अरोड़ा के अज्ञात हत्यारों की तलाश में 100 से अधिक व्यक्तियो से पूछताछ की गई तथा 200 मोबाईल नम्बरो की सीडीआर लेकर विश्लेषण किया गया तथा घटना स्थल व अंतिम बार जीवित दिखाई दिये स्थान रेलवे हॉस्पीटल के तकनीकी डाटा लिये जाकर तकनीकी अनुसंधान किया गया। जमशेद खान सउनि साईबर सैल जिला कोटा शहर व सुभाष भाटी कानि 1456 को उपरोक्त प्रकरण में सरसब्ज करने हेतु बीटीएस व कॉल डिटेल विश्लेषण करने व आसूचना एकत्रित करने हेतु निर्देशित किया गया था। जिस पर जमशेद सउनि व कानि सुभाष भाटी ने दिन रात अथक मेहनत कर बीटीएस कॉल डिटेल विश्लेषण किया और मुखबीरान से सूचना एकत्रित की, जिस पर प्रमोद कुमार सिंह पुत्र दानसिंह निवासी रेल्वे वर्कशॉप कोलोनी कोटा द्वारा मृतका पूजा अरोडा की हत्या में संदिग्ध होना  होने पर गिरफ्तार किया गया।

 

अभियुक्त प्रमोद कुमार सिंह से अनुसंधान में सामने आया है कि अभियुक्त गर्म कपडो व हींग का व्यापार करता था। जो कोरोना काल लगने से दो साल बन्द रहा, जिससे मुलजिम की आर्थिक स्थिति खराब हो गई। उसी दौरान मुलजिम प्रमोद कुमार सिंह ने मृतका पूजा अरोडा को अपने प्रेम जाल में फंसाया और उसके साथ घर बसाने का झूठा आश्वासन देकर उसका विश्वास जीता। मुलजिम ने प्लानिंग के तहत मृतका से हमेशा व्हाटसएप पर कॉल करके ही सम्पर्क किया था  31 मई 2022 को लगभग 7. 40 पी.एम पर मृतका पूजा अरोडा को तैयार होकर रुपये, गहने व पहनने के कपडे लेकर रेलवे हॉस्पीटल के मैन गेट पर मिलने बुलाया। अभियुक्त ने अपनी पहचान व उपस्थिति छुपाने के लिए रेलवे हॉस्पीटल की मैन गेट वाली जगह को चुना क्योकि वहां पर कोई सीसीटीवी कैमरे मोजूद नही थे व ज्यादा भीड़-भाड भी नही रहती है अभियुक्त मृतका को साथ चलने का विश्वास दिला कर कार में बैठा कर शहर के बाहर लेकर गया व मुताबिक प्लान   31मई 2022 को ही उसके जेवरात व रुपये लूट कर मृतका का गला घोंट कर हत्या कर दी तथा मृतका के जेवरात व रुपये लूट कर अपने पास रख लिये तथा मृतका की लाश को शम्भूपुरा हाईवे के पास गड्डे में डाल कर चला गया। मुलजिम प्रमोद कुमार सिंह से लूटे गये जेवरात, रुपये, मोबाईल फोन व अन्य सामान की बरामदगी के प्रयास जारी है।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines , Kota News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like