अनन्त चतुर्दशी शोभा यात्रा में उमड़ेगा शहर

( Read 1098 Times)

12 Sep 19
Share |
Print This Page

डॉ. प्रभात कुमार सिंघल

अनन्त चतुर्दशी शोभा यात्रा में उमड़ेगा शहर

कोटा |  अनंत चतुर्दशी की आज कोटा में निकलने वाली भव्य शोभा यात्रा में शहरवासियों का उत्साह देखते ही बन रहा है। सुबह से ही गणेश जी विसर्जन की तैयारियां प्रारम्भ हो गई है। पूरे उत्साह के साथ रात भर से ही गणेश जी की झांकियों को भव्य स्वरूप से सजाने के काम शुरू हो गया। अखाड़े वाले भी अपने करतब दिखाने की तैयारियों में जुट गए हैं। शोभा यात्रा सद्भाव,शांति और भाईचारे के साथ परंपरा के साथ सम्पन्न हो इसके लिए प्रशासन ने हर सम्भव सुरक्षा बंदोबस्त किए हैं। प्रशासन ने प्रयास किया है कि नागरिक शांतिपूर्ण रूप से उत्साह के साथ अपना परम्परागत उत्सव मनाए। 

     कोटा की शोभा यात्रा में करीब 250 झांकियां,60 अखाड़े,5 महिला अखाड़े,20 भजन मंडलियां, कीर्तन मंडलियां,बैंड आदि शामिल होंगे। यात्रा मार्ग में 75 स्वागत द्वार बनाये गए है। गणपति बप्पा मोरिया के साथ देर रात तक किशोर सागर तालाब एवं अन्य स्थानों पर गणेश जी का विसर्जन होगा। यात्रा सूरजपोल दरवाजे से शुरू होकर कथूनीपोल, गन्धी जी का पुल, सब्जीमंडी,अग्रसेन बाजार,रामपुरा, आर्य समाज रोड हो कर विसर्जन स्थल तक जाएगी। नए कोटा में गणेश जी भीतरिया कुंड चम्बल में विसर्जित की जाएंगी। विभिन्न जगहों पर शोभा यात्रा का भव्य स्वगात किया जाएगा। अखड़ों के प्रदर्शन के लिए 13 स्थान निश्चित किये गए हैं।

    वर्ष 1949 में  एक भक्त रामकुमार ने गणपति की स्थापना की औऱ कुछ झांकियों के साथ विसर्जन की शुरुआत की। वर्ष 1990 में  बाबा गोपी नाथ जी ने इसे बड़ा रूप प्रदान किया ।इस वर्ष झाकियों की संख्या 4 थी जो 1991 में बढ़ कर 11 हो गई। आज इसका   इतना विशाल रूप हो गया जिसकी कभी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी। गणेश प्रतिमाओं का स्वरूप भी विशाल हो गया।इतनी वजनी एवं लंबी प्रतिमा बननी लगी कि क्रेन से विसर्जन करना पड़ता है। शोभा यात्रा मार्ग में भी समय समय पर परिवर्तन होता रहा।विशाल गणेश पंडाल बनाये जाने लगे।घर घर गणेश जी की स्थापना होने लगी।अनुमान है इस बार करीब 50 हज़ार गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन किया जाएगा।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Kota News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like