स्मार्ट सिटी,442 करोड़ के नए कार्य स्वीकृत

( Read 568 Times)

16 Aug 19
Share |
Print This Page
स्मार्ट सिटी,442 करोड़ के नए कार्य स्वीकृत

(डॉ. प्रभात कुमार सिंघल) | स्मार्ट सिटी बोर्ड की बैठक में 442 करोड़ के 12 नये कार्यो को स्वीकृति दी गई। जिनमें अदालत परिसर के साथ चिकित्सकों के आवास की खाली जमीन पर पार्किंग, अटांघर, गोबरिया बावडी, गांधी चौराहा गुमानपुरा एवं एरोड्राम चौराहे पर अण्डरपास व सौन्दर्यकरण, कोटडी तिराहे, जयपुर गोल्डन एवं मल्टीपरपज स्कूल गुमानपुरा में पार्किग का निर्माण, लाडपुरा, पाटनपोल, सूरजपोल एवं किशोरपुरा के ऐतिहासिक गेटो का विकास, झालावाड रोड पर सिटी मॉल के सामने ऐलीवेटेड रोड का निर्माण, आईएल परिसर में ऑक्सीजोन का विकास एवं सीबी गार्डन का जीर्णोद्धार शामिल किये गये है। 

          स्वायत्त शासन एवं नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि स्मार्ट सिटी योजना के तहत इस प्रकार के कार्य हाथ में लिये जाये जिससे आम नागरिकों को सीधा लाभ मिले। उन्होंने सभी कार्याे को निर्धारित समय में पूरा करने के लिए प्रत्येक कार्य की समयबद्धता सुनिश्चित कर 2 वर्ष में कार्य पूर्ण कराने के निर्देश दिये। वे को टैगोर हॉल में स्मार्ट सिटी बोर्ड की बैठक में उपस्थित अधिकारियों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी में किये जाने वाले कार्यो से आम नागरिकों को सीधा लाभ के साथ शहर में स्मार्टनेस भी दिखाई दे। उन्होंने कार्यो की समयबद्धता निर्धारित करते हुए प्रस्तावित किये गये विकास कार्यो की अक्टूबर माह तक डीपीआर तैयार करवाने, दिसम्बर माह तक टेण्डर प्रक्रिया पूरी करने एवं आगामी 2 वर्षो में सभी कार्यो को मूर्तरूप देने के निर्देश दिये। 
           उन्होंने कहा कि कोटा शहर चम्बल के किनारे हैं। यहां पेयजल समस्या से स्थाई रूप से निजात दिलाने का प्लान तैयार करें। उन्होंने वर्तमान में जल उत्पादन क्षमता को 130 से 200 एमएलडी तक करने, नदीपार, रेल्वे स्टेशन, प्रेमनगर, गोविंद नगर, छावनी रामचन्द्रपुरा, सकतपुरा, बारां रोड के आवासीय क्षेत्रों में भी निर्बाध रूप से पेयजल सप्लाई का प्लान तैयार कर वितरण व्यवस्था में सुधार करने की हिदायद दी। 
         उन्होंनें शहर के प्रमुख स्थानों पर पार्किंग व्यवस्था, दशहरा मैदान विकास, हेरिटेज गेटों के जीर्णोद्धार, चौराहो का विकास एवं स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार हेतु एमबीएस में नये ओपीडी के निर्माण जैसे कार्य प्राथमिकता में लेते हुए समय पर पूरा कराने के निर्देश दिये। उन्होंने शहर में आवारा पशुओं को आमजन को हो रही परेशानियों एवं दुर्घटनाओं को रोकने के लिए निगम एवं यूआईटी को प्रभावी कार्यवाही करने, अवैध रूप से जगह-जगह गायो को चारा डालने वालों के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश दिये। 
         शासन सचिव स्थानीय निकाय एवं अध्यक्ष कोटा स्मार्ट सिटी बोर्ड भवानी सिंह देत्था ने कहा कि कार्यो को प्राथमिकता के क्रम में रखते हुए सभी अधिकारी टीम भावना के साथ कार्य करें। उन्होंने पेयजल, आवागमन सुधार, सौन्दर्यकरण एवं मूलभूत सुविधाओं वाले कार्यो को शामिल कर समय पर पूरा कराने के निर्देश दिये। उन्होंने आवारा जानवरों की पकड करने, पशुपालकों का सर्वे कर उन्हें पशुओं को खुला नहीं छोडने के लिए पाबंद करने के निर्देश दिये। 
      जिला कलक्टर एवं सीईओ स्मार्ट सिटी मुक्तानंद अग्रवाल ने कहा कि सरकार की मंशा के अनुरूप सभी कार्य निर्धारित समय में पूरा किये जाये इसके लिए प्रत्येक माह का प्लान बनाकर कार्य करें। उन्हांेने आमजन को आवागमन एवं आईटी का उपयोग करते हुए नवाचारों को अपनाते हुए कार्य पूरा करने के निर्देश दिये। 
      महापौर एवं स्मार्ट सिटी बोर्ड के निदेशक महेश विजय ने दशहरा मैदान के द्वितीय चरण, गौशाला निर्माण एवं अन्य प्रस्तावित कार्यो के संबंध में रचनात्मक सुझाव दिये। इस अवसर पर आयुक्त नगर निगम नरेन्द्र कुमार गुप्ता, सचिव नगर विकास न्यास भवानी सिंह पालावत, ओएसडी आरडी मीणा, स्मार्ट सिटी बोर्ड के निदेशक कीर्ति राठौड़, प्रेमशंकर शर्मा, एसईवर्मा सहित निदेशक मण्डल के सभी पदाधिकारी उपस्थित रहे।

Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Kota News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like