logo

जिले में साढ़े 8 लाख से अधिक मतदाता करेंगे मतदान

( Read 373 Times)

07 Dec 18
Share |
Print This Page
जिले में साढ़े 8 लाख से अधिक मतदाता करेंगे मतदान बारां । विधानसभा चुनाव के तहत जिले के चारों विधानसभा क्षेत्रों के कुल 1040 मतदान केन्द्रों पर शुक्रवार 7 दिसम्बर 2018 को मतदान होगा। जिले में कुल 8 लाख 71 हजार 890 मतदाता मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे। चुनाव में पहली बार इवीएम के साथ वीवीपेट मशीन का उपयोग किया जाएगा। जिले में मतदान की सभी तैयारियों को पूर्ण करते हुए जिला मुख्यालय से गुरूवार को मतदान दलों को अंतिम प्रशिक्षण के बाद गन्तव्य स्थलों के लिए रवानगी दे दी गई है।
जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. एस.पी. सिंह ने कहा कि जिले के अन्ता, किशनगंज, बारां-अटरू व छबड़ा विधानसभा क्षेत्रों में स्थापित मतदान केन्द्रों पर शुक्रवार को प्रातः 8 से शाम 5 बजे तक मतदान होगा। इसके लिए अन्ता में 249, विधानसभा क्षेत्र किशनगंज में में 247, विधानसभा क्षेत्र बारां-अटरू में 282 व विधानसभा क्षेत्र छबड़ा में 262 मतदान केन्द्र स्थापित किए गए हैं। सभी 107 संवेदनशील मतदान केन्द्रों पर भी सुरक्षा के अतिरिक्त बंदोबस्त किए गए है जिससे मतदाता भयमुक्त वातावरण मताधिकार का प्रयोग कर सके। उन्होंने कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया में किसी तरह की बाधा उत्पन्न करने वालों तत्वों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जाएगी।
जिला निर्वाचन अधिकारी की अपील
जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. एस.पी. सिंह ने शुक्रवार को होने वाले चुनाव में जिले के सभी मतदाताओं से मतदान केन्द्र पर पहुंचकर भयमुक्त वातावरण में अपने मताधिकार का उपयोग कर जिले में शतप्रतिशत मतदान सुनिश्चित करने में अपनी महत्वपूर्ण भागीदारी देने की अपील की है। उन्होंने कहा कि बीएलओ के माध्यम से सभी मतदाताओं तक मतदाता पर्चियां पहुंचाई गई है। साथ ही जिले में स्वतंत्र, निष्पक्ष व शांतिपूर्ण मतदान के लिए सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं। उन्होंने कहा कि दिव्यांग मतदाताओं की सहायता के लिए सभी मतदान केन्द्रों पर समुचित इंतजाम किए गए हैं वहीं उनके लिए आने जाने के लिए वाहन की भी उपलब्धता रहेगी।
सजग व निष्पक्ष रहकर कराएं चुनाव
जिला निर्वाचन अधिकारी ने कोटा रोड स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में गुरूवार को अंतिम प्रशिक्षण के दौरान मतदान दलों के कार्मिकों को संबोधित करते हुए कहा कि मतदान दिवस पर सभी कार्मिक सजग और निष्पक्ष रहकर अपने कर्तव्य का निर्वहन करें। मतदान के दौरान भारत निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशों की पूरी तरह पालना सुनिश्चित करें। मतदान से पूर्व पोलिंग एजेन्टों की मौजूदगी में मोक पोल किया जावे। मतदान के दौरान किन कार्यों को किया जाना है और किन कार्यों को करने से बचना है इसे पूरी तरह समझ लिया जाना चाहिए जिससे किसी भी तरह की असुविधा का सामना न करना पड़े। उन्हांेने कहा कि पीठासीन अधिकारी निर्धारित समय पर एसएमएस के माध्यम से सूचना का प्रेषण करें। मतदान केन्द्रों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रहेंगे।
8 लाख 71 हजार 890 मतदाता
जिले में विधानसभा आम चुनाव 2018 के तहत कुल 8 लाख 71 हजार 890 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इसमें सर्विस मतदाता 117 है। जिला निर्वाचन अधिकारी व कलक्टर डॉ. एस.पी. सिंह ने बताया कि जिले में सर्विस मतदाता के अलावा 8 लाख 71 हजार 773 मतदाता है। जिनमें पुरूष 4 लाख 50 हजार 535, महिला मतदाता 4 लाख 21 हजार 236 तथा 2 ट्रांसजेंडर मतदाता हैं। उन्होंने बताया कि अन्ता विधानसभा क्षेत्र में कुल 2 लाख 7 हजार 844 मतदाता है। जिनमें 1 लाख 7 हजार 194 पुरूष, 1 लाख 649 महिला मतदाता तथा एक ट्रांसजेंडर मतदाता है। किशनगंज विधानसभा क्षेत्र में कुल 2 लाख 12 हजार 645 मतदाता है। जिनमें 1 लाख 9 हजार 343 पुरूष एवं 1 लाख 3 हजार 302 महिला मतदाता है। बारां-अटरू विधानसभा क्षेत्र में कुल 2 लाख 25 हजार 190 मतदाता है। जिनमें 1 लाख 16 हजार 508 पुरूष एवं 1 लाख 8 हजार 681 महिला मतदाता तथा एक ट्रांसजेंडर मतदाता है। छबड़ा विधानसभा क्षेत्र में कुल 2 लाख 26 हजार 94 मतदाता है। जिनमें 1 लाख 17 हजार 490 पुरूष एवं 1 लाख 8 हजार 604 महिला मतदाता है।
निर्वाचक हेतु वैकल्पिक फोटो पहचान दस्तावेज
अधिसूचित होने वाले राज्य विधान सभाओं के आगामी साधारण निर्वाचन के लिए सभी मतदाता जिन्हें निर्वाचक फोटो पहचान पत्र जारी किए गए हैं, मतदान केन्द्रों पर मत डालने से पहले अपनी पहचान सुनिश्चित करने हेतु अपना निर्वाचक फोटो पहचार पत्र दिखाएंगे। ऐसे निर्वाचक जो अपना निर्वाचक फोटो पहचान पत्र प्रस्तुत नहीं कर पाते हैं, उन्हें अपनी पहचान स्थापित करने के लिए निम्नलिखित वैकल्पिक फोटो पहचान दस्तावेजों में से कोई एक प्रस्तुत करना होगा।
जिला निर्वाचन अधिकारी के अनुसार मतदाता पासपोर्ट, ड्राईविंग लाइसेंस, राज्य पब्लिक लिमिटेड कम्पनियों द्वारा, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम, केन्द्र सरकार/अपने कर्मचारियों को जारी किए जाने वाले फोटो युक्त सेवा पहचान पत्र, बैंकों डाकघरों द्वारा जारी की गई फोटो युक्त पासबुक, पैन कार्ड, आरजीआई एवं एनपीआर द्वारा जारी किए गए स्मार्ट कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, श्रम मंत्रालय की योजना के अन्तर्गत जारी स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, फोटो युक्त पेंशन दस्तावेज, निर्वाचन तंत्र द्वारा जारी प्रमाणित फोटो मतदाता पर्ची, सांसदोविधान परिषद सदस्यों को जारी किए गए सरकारी पहचान पत्र/विधायकों एवं आधार कार्ड को वैकल्पिक फोटो पहचान दस्तावेज के रूप में मतदान हेतु उपयोग कर सकते हैं।
सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त
जिला पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार विश्नोई ने बताया कि विधानसभा चुनाव में सुरक्षा के लिए पुलिस विभाग के तरफ से कड़े इंतजाम किए गए हैं। मतदान के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने व मतदान केन्द्रों पर सुरक्षा के लिए कुल 2601 सुरक्षा कर्मी तैनात रहेंगे। इसमें सीपीएमएफ की 8 कम्पनियों के 600 जवान समेत आरएसी की 2 कम्पनियां और होमगार्ड के 700 जवान शामिल है। इसके अतिरिक्त राजस्थान पुलिस के अधिकारी व जवानों की भी सुरक्षा के लिए तैनातगी रहेगी।
Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Kota News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like