logo

स्वयं सेवक स्वैच्छा से करें नागरिक सेवा के कार्य

( Read 377 Times)

07 Dec 18
Share |
Print This Page

स्वयं सेवक स्वैच्छा से करें नागरिक सेवा के कार्य झालावाड़ । नागरिक सुरक्षा के लिए गठित सिविल डिफेन्स का 56वां स्थापना दिवस गुरूवार को जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी की अध्यक्षता में मिनी सचिवालय के सभागार में मनाया गया।
इस दौरान जिला कलक्टर ने सिविल डिफेन्स के स्वयं सेवकों को नागरिक सुरक्षा संगठन 6 दिसम्बर के स्थापना दिवस पर शुभकामनाएं देते हुए बताया कि इस संगठन का मूल उद्देश्य दुश्मन द्वारा देश पर होने वाले हवाई हमले की स्थिति में स्थानीय नागरिकों की नागरिकों द्वारा सुरक्षा करना है। देश में बढ़ती प्राकृतिक एवं मानव जनित आपदाओं के मद्देनजर, भारत सरकार द्वारा आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005 को प्रभावशील करते हुए, वर्ष 2009 में नागरिक सुरक्षा अधिनियम 1968 में भी संशोधन कर, इस आपदा प्रबन्धन प्रशिक्षित स्वयंसेवी संगठन को आपदा प्रबन्धन की अतिरिक्त जिम्मेदारी दी गई। उन्होंने बताया कि यह संगठन राज्य में जिला स्तर आपदा प्रबन्धन बचाव कार्यों के साथ-साथ अन्य विविध कार्यों में जिला प्रशासन का सहयोग कर, सराहनीय योगदान दे रहा है।
सिविल डिफेन्स के स्वयं सेवक के मन मे समाज सेवा, संवदेनशीलता तथा मुसीबत में फसे व्यक्ति की मदद करने की स्वैच्छिक भावना हो। उन्होंने बताया कि सम्पूर्ण जिले में आपदाओं के दौरान आम नागरिक को सुरक्षा प्रदान करने के लिए गांव, ब्लॉक एवं जिले में सिविल डिफेन्स के स्वयं सेवकों के दल का गठन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अगले वर्ष सिविल डिफेन्स के 57वं स्थापना दिवस पर सर्व भूत हिते रतः के मूल दर्शन के साथ नागरिक सेवा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले तीन स्वयं सेवकों को पुरस्कृत किया जाएगा।
सिविल डिफेन्स के प्रभारी अनवर आलम ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार आपदा प्रबंधन सहायता एवं नागरिक सुरक्षा विभाग जयपुर द्वारा राज्य के समस्त जिलो में सिविल डिफेन्स विभाग का सृजन किया गया है। जिले में सिविल डिफेन्स के स्वयं सेवकों को नागरिक सुरक्षा बुनियादी एवं सेवा प्रशिक्षण प्रदान किया गया, जिसमें अग्नि बचाव, बाढ़ बचाव आदि का प्रशिक्षण दिया गया। साथ ही स्वयं सेवकों को दो दिवसीय प्राथमिक उपचार प्रशिक्षण भी प्रदान किया गया है। उन्होंने बताया कि जिले में समस्त स्वयं सेवकों को जून माह में दो दिवसीय पुलिस परेड का सामान्य प्रशिक्षण दिया गया, जिसके पश्चात् स्वयं सेवकों द्वारा 15 दिवस का प्रशिक्षण प्राप्त करके पहली बार 15 अगस्त, 2018 को स्वतंत्रता दिवस के जिला स्तरीय समारोह में परेड में भाग लिया गया। इसके अतिरिक्त जिला आपदा त्वरित कार्यवाही दल का गठन किया गया जिसमें 12 व्यक्ति, प्रतिदिन 24 घंटे कार्यरत रहते हैं। साथ ही सिविल डिफेन्स के स्वयं सेवकों द्वारा मिनी सचिवालय परिसर में पार्क तैयार किया गया है।
उन्होंने बताया कि सिविल डिफेन्स के स्वयं सेवकों द्वारा मुण्डेरी नदी में पानी में बहने पर एक व्यक्ति को बचाया गया है। वहीं राड़ी के बालाजी के पास डम्पिंग यार्ड एवं मिनी सचिवालय के पास दुकान में लगी आग बुझाने का कार्य भी सिविल डिफेन्स के स्वयं सेवकों द्वारा किया गया है। इस दौरान सिविल डिफेन्स के सह प्रभारी नरेश शर्मा सहित समस्त स्वयं सेवक उपस्थित रहे।
Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Kota News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like