BREAKING NEWS

logo

तेल आयात में कटौती का कारण बताएं मोदी

( Read 1940 Times)

13 Jul 18
Share |
Print This Page

कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अमेरिका के दबाव में राष्ट्रहित से समझौता करने का आरोप लगाते हुए उनसे देश को यह बताने की मांग की है कि ईरान से तेल आयात में बड़े पैमाने पर कटौती किन कारणों से की गई है। कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने बृहस्पतिवार को यहां पत्रकारों से कहा कि पेट्रोल और डीजल की आसमान छू रही कीमतों से देश का जनमानस पहले हीास्त है और अब ईरान से बड़े पैमाने पर तेल आयात में कटौती करके आम आदमी को लूटने की तैयारी है। तेल आयात में कटौती से तेल के दाम बढ़ेंगे और इसका सीधा असर मंहगाई पर पड़ेगा। उन्होंने आरोप लगाया कि अमेरिका और ईरान के संबंधों में आयी कड़वाहट के कारण मोदी सरकार ने अमेरिका के समक्ष घुटने टेकेहैं और देशहित से समझौता किया है। उन्होंने कहा कि ईरान देश की 15 प्रतिशत तेल जरूरत को पूरा करता है और चीन के बाद भारत उसका दूसरा सबसे बड़ा ग्राहक है। भारत ईरान से प्रतिदिन 7.70 लाख बैरल तेल का आयात करता है लेकिन अमेरिका के सामने झुकते हुए तेल आयात में कटौती की गईऔर हर दिन महज 5.70 लाख बैरल तेल का आयात किया जा रहा है। प्रवक्ता ने कहा कि देश अपनी तेल जरूरत को पूरा करने के लिए 80 प्रतिशत तेल आयात करता है। ईरान के साथ हमारे संबंध अच्छे हैं और उससे तेल आपूत्तर्ि में कटौती नहीं की जानी चाहिए थी लेकिन मोदी सरकार ने यह कदम उठाकर देश की जनता की गाढी कमाई पर सेंध लगा दी है। देश में तेल का आयात घटने से सरकार इसकी कीमत बढा सकती है।
Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : InternationalNews
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like