logo

‘कैदियों की तरह रह रहे’ सात लोगों को परिवार की मदद

( Read 1629 Times)

10 Jul 18
Share |
Print This Page

बई । यूएई में ‘‘कैदियों की तरह रह रहे’ सात लोगों के एक भारतीय परिवार की मदद के लिए कई लोग सामने आ रहे हैं। कई लोगों ने उन्हें नौकरी की पेशकश की है और यहां स्थित भारतीय मिशन ने भी सहायता मुहैया कराने के लिए उनसे संपर्क किया है।दुबई में भारत की कार्यवाहक महा वाणिज्य दूत सुमथी वासुदेव ने कहा, दुबई में भारतीय वाणिज्य दूतावास के अधिकारियों ने शारजाह स्थित इस परिवार से संपर्क किया और उन्हें मदद की पेशकश की। केरल के मधुसूधानन (60) और श्रीलंका मूल की उनकी पत्नी रोहिणी (55) ने दावा किया था कि वह शारजहा में कैदियों की तरह जी रहे है और गिरफ्तारी तथा निर्वासन के डर से उन्होंने यूएई सरकार से उनके यहां रहने के दज्रे को वैध करने की गुहार भी लगाई थी। उनकी चार बेटियां अश्विथी (29) संगीता (25) शांति (23) गौरी (22) और एक बेटा मिथुन (21) हैं , जो कभी स्कूल नहीं गए। सभी बेरोजगार हैं और एक पुराने दो कमरों के घर में रहते हैं। वासुदेव ने कहा, पांच में से चार के पास पासपोर्ट हैं लेकिन वर्ष 2012 में उनकी वैधता समाप्त हो गई थी। समुदाय के लोगों ने सामने आकर मधुसूधानन और उनके बच्चों को नौकरी की पेशकश की है।
Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : InternationalNews
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like