logo

सार्वजनिक स्थलों पर धूम्रपान करने वालों पर पुलिस ने कसा शिकंजा

( Read 2949 Times)

12 Jan 18
Share |
Print This Page
फरीदाबाद, पुलिस कमीश्नर डा.हनीफ कुरेशी ने कहा है कि फरीदाबाद जिले को तंबाकू मुक्त बनाकर इसे देशभर में एक माडॅल के रुप में प्रस्तुत करेंगे। इसके लिए स्वयंसेवी संस्थाअेंा का सहयेाग लिया जायेगा। पुलिस कमीश्नर बुधवार को कमीश्नरेट सभागार में हरियाणा पुलिस, संबंध हैल्थ फाउंडेशन (एसएचएफ), गुडगांव व फोर्टिस फाउंडेशन द्वारा आयोजित तंबाकू मुक्त फरीदाबाद पर आयेाजित प्रेस कांफे्रस को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान पुलिस कमीश्नर व अन्य अधिकारियों का सम्मान भी किया गया।
उन्होने कहा कि पुलिस के पास बहुत सारे काम होतें है और मुख्य काम अपराध को रोकना है, क्यों कि क्राइम को सिर्फ पुलिस ही रोक सकती है, इसलिए सामाजिक सरोकार के जो काम है उन्हे सामाजिक संस्थाअेां के द्वारा किया जाना बेहतर है। तंबाकू व अन्य धूम्रपान उत्पाादों की रोकथाम के लिए केाटपा का प्रभावी रुप से पालन होना जरुरी है। मुख्य से इसको देा तरह से पूरी तरह लागू किया जा सकता है, इसमें पहला काम अवेयरनेस और कोटपा की कड़ाई से पालना कराना शामिल है। कोटपा को लागू करने के लिए नियमित रुप से अभियान चलाया जायेगा।
3 हजार चालान बनेंगे प्रतिमाह
पुलिस कमीश्नर ने कहा कि जिले को तंबाकू मुक्त बनाने के लिए सभी पुलिस अधिकारियों के साथ वार्तालाप कर तय किया गया कि कम से कम 3 हजार चालान प्रतिमाह बनाये जाएंगे। इससे आम जनता में सकारात्मक संदेश जाएगा। इसके साथ ही तंबाकू बेचने वाले, इसे बनाने वाली कंपनियां, आमजनता, सामाजिक संस्थाअेंा का सहयेाग लिया जाएगा, इनके साथ वार्ता की जायेगी। डॉ. कुरैशी ने कहा कि आम लोगों को स्वस्थ वातावरण मिले इसके लिए सार्वजनिक स्थलों पर धूम्रपान पीने वालों के विरुद्ध और अधिक सख्ती से कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि स्पेशल ड्राइव का उद्देश्य युवा पीढ़ी को तंबाकू अन्य धूम्रपान उत्पादों से दूर रखकर कैंसर जैसी अन्य बीमारियों से बचाव है। इसके साथ ही यह सुनिश्चिित किया जाएगा कि सार्वजनिक स्थलों पर धूम्रपान करने वालों की वजह से धूम्रपान न करने वालों विशेषक बच्चों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव न पड़े।
विशेष अभियान में बने 2338 चालान
पुलिस ने दिंसबर 2017 माह में विशेष अभियान चलाकर सार्वजनिक स्थलों पर धूम्रपान करने व कोटपा एक्ट के नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में 2338 चालान काटे है। जबकि वर्ष 2017 में कुल 3168 चालान काटे गए हैं। इस मुहिम के सकारात्मक परिणाम आने के कारण पुलिस इस अभियान को जारी रख रही है, इसेमं आम जनता का भी सकारात्मक सहयेग मिल रहा है। इस दौरा मौके पर हजारों की संख्या में कोटपा एक्ट के तहत बेहतरीन कार्य करने पर सामाजिक संगठनों व आमजन ने पुलिस की प्रशंसा की है। पिछले एक साल से इस अभियान को चलाया जा रहा है।
पुलिस कमीश्नर सहित अधिकारियों का हुआ सम्मान
पुलिस के द्वारा इस प्रशंसनीय कार्य को प्रोत्साहित करने के लिए देशभर में तंबाकू मुक्त अभियान चला रही संबंध हैल्थ फाउंडेशन, फोर्टिस फाउंडेशन गुडगांव की और से ट्रस्टी संजय सेठ, प्रोगा्रम डायरेक्टर अंजली खोसा ने पुलिस कमिश्नर डॉ. हनीफ कुरैशी को केाटपा में बेहतरीन कार्य करने पर सम्मान पत्र प्रदान किया। वंही सर्वाधिक चालान काटने वाले पुलिसथाना बल्लबगढ़ सिटी, सारन व सराय ख्वाजा पुलिस थाना प्रबंधकों को सम्मानित किया।
19.7 प्रतिशत लोग करतें है धूम्रपान
तम्बाकू मुक्त हरियाणा अभियान चला रही संबंध हैल्थ फाउंडेशन के सीनीयर मैनेजर डॉ. सोमिल रस्तोगी ने कहा कि हरियाणा प्रदेश में 19.7 फीसदी लोग बीड़ी व सिगरेट का सेवन करते हैं। धूम्रपान की वजह से 80.3फीसदी नोन-स्मोकर पर भी प्रतिकूल असर पड़ता है। उन्होंने कहा कि इस हरिणाया प्रदेश में धूम्रपान से जनित रोगों के हर साल करीब 28 हजार लोगों की मौत हो जाती है। गंभीर चिंतन का विषय ये है कि इनमें से 10 फीसदी लोग वे हैं जो ध्रुमपान नहीं करते हैं, लेकिन बीड़ी-सिगरेट पीने वाले के संपर्क में रहने के कारण रोगग्रस्त होकर मौत का शिकार हो जाते हैं।
फरीदाबाद के सेक्टर-31 स्थित एफएमएस स्कूल के चेयरमैन एचएस मलिक ने कहा कि तम्बाकू विक्रेता बच्चों को नशेड़ी बनाकर उनके जीवन को नष्ट करने के लिए स्कूलों के आसपास की दुकानों, थड़ी-ठेलों पर बड़ी मात्रा में तम्बाकू उत्पाद उपलब्ध करवा रहे हैं। उन्होंने कहा कि केवल पुलिस ही है जो इस बच्चों के जीवन को बचा सकती है, इसके लिए इस तरह की स्पेशल ड्राइव निरंतर जारी रखने की जरूरत है।
फरीदाबाद मिडटाउन के रोटरी क्लब के अध्यक्ष अनिल बहल ने कहा कि इस तरह के स्पेशल ड्राइव चलाकर ही युवा पीढ़ी को मौत के गर्त में जाने से बचाया जा सकता है। इसके लिए रोटरी क्लब स्वस्थ्य और सुंदर फरीदाबाद बनाने के लिए इस अभियान का सहयोग करेगा। इसके तहत रोटरी क्लब के सदस्य फरीदाबाद में कोटपा एक्ट के प्रति जागरूकता पैदा करेंगे, जिसके लिए शहर में नो-स्मोकिंग के पम्फलेट्स वितरित करेंगे।
हरियाणा में 43 लाख स्मोकर, 28 हजार की सालान मौत
विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की रिपोर्ट के मुताबिक हरियाणा प्रदेश में करीब 43 लाख लोग किसी न किसी रूप में तम्बाकू का उपयोग करते हैं। इनमें से 35.5 लाख लोग धु्रमपान (बीड़ी व सिगरेट) करते हैं। तम्बाकू जनित पदार्थों के उपयोग से कैंसर सहित विभिन्न तरह की बीमारियों से ग्रसित होने के कारण प्रदेश में सालाना अनुमानित 28 हजार लोगों की मौत हो जाती है। वहीं, लगभग 116 बच्चे रोजाना तम्बाकू जनित पदार्थों का सेवन शुरु करते हैं।
Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : InternationalNews
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like