logo

पुरुष एथलीटों के दिल को ज्यादा खतरा

( Read 11014 Times)

28 Nov, 17 10:20
Share |
Print This Page

वॉशिंगटन तैराकी, साइकिल चलाने और दौड़ सहित विविध स्तरीय स्पर्धा में भाग लेने वाले पुरु ष एथलीटों को नुकसानदेह हृदय स्थिति का बड़ा खतरा रहता है। महिला एथलीटों में नहीं दिखा खतरा : यह खतरा सीधे तौर पर एथलीट के व्यायाम की मात्रा से जुड़ा है। महिला एथलीटों में यह खतरा नहीं दिखा। ‘‘रेडियो लॉजिकल सोसाइटी ऑफ नार्थ अमेरिका’ (आरएसएनए) की वार्षिक बैठक में इस सप्ताह यह शोध पेश किया गया है। दिल को चोट : ‘‘मायोकार्डियल फाइब्रोसिस’ दिल को चोट पहुंचाता है। आम तौर पर यह पंपिंग चैंबर जिसे निलय भी कहा जाता है उसे प्रभावित करता है। इस स्थिति से हृदय की विफलता का खतरा बढ़ जाता है।असमान्य हृदय गति का आधार : जर्मनी में ‘‘यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर हेमबर्ग-एपेनडोर्फ’ के अग्रणी जित्का स्टारेकोवा ने कहा, इन आघातों की क्लीनिकल प्रासंगिकता फिलहाल अस्पष्ट है। हालांकि, ये भविष्य में हृदय की नाकामी और असमान्य हृदय गति का आधार हो सकता है।55 पुरु षों व 30 महिलाओं पर अध्ययन : अध्ययनकर्ताओं ने 55 पुरु षों (औसत उम्र 44) और 30 महिलाओं (औसत उम्र 43) सहित विविध स्पर्धाओं में भाग लेने वाले एथलीट के एक समूहों पर यह अध्ययन किया।

Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Health Plus
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like