GMCH STORIES

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को श्री हरि मंदिर स्वर्ण शिखर प्रतिष्ठा समारोह बेणेश्वर धाम के लिए आमंत्रण

( Read 2875 Times)

09 Aug 22
Share |
Print This Page
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को श्री हरि मंदिर स्वर्ण शिखर प्रतिष्ठा समारोह बेणेश्वर धाम के लिए आमंत्रण

नई दिल्ली I दक्षिणी राजस्थान के उदयपुर, बांसवाड़ा और डूंगरपुर की सीमाओं पर सोम, माही और जाखम नदियों के पवित्र त्रिवेणी संगम पर स्थित वागड़ के प्रयागराज और राजस्थान, गुजरात और मध्य प्रदेश के आदिवासियों के कुम्भ माने जाने वाले वागड़ के मशहूर तीर्थ स्थल बेणेश्वर धाम पर पुनरुद्धारित श्री हरि मंदिर के स्वर्ण शिखर प्रतिष्ठा समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मुख्य अतिथि के रूप आमन्त्रित किया गया है।

प्रधानमंत्री मोदी को निमंत्रण देने बांसवाड़ा-डूंगरपुर के सांसद कनकमल कटारा,बेणेश्वर धाम के पीठाधीश्वर अच्युतानंद महाराज और क्षेत्रीय विधायकों गोपीचंद मीणा (आसपुर ) एवं हरेन्द्र निनामा (घाटोल ) के प्रतिनिधिमंडल ने सोमवार को नई दिल्ली में संसद भवन स्थित प्रधानमंत्री कार्यालय में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाक़ात की । प्रतिनिमंडल ने प्रधानमंत्री को श्री हरि मंदिर स्वर्ण शिखर प्रतिष्ठा समारोह के लिए बेणेश्वर धाम आने का निमन्त्रण दिया I प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह निमंत्रण स्वीकार किया।

 

प्रतिनिधिमंडल ने प्रधानमन्त्री को बेणेश्वर धाम पर किये जा रहे विकास कार्यो से भी अवगत कराया और बताया कि यह दक्षिणी राजस्थान का ऐसा पवित्र स्थान है जहां तीन नदियों के संगम स्थल पर बने टापू पर स्थित ब्रह्मा,विष्णु और महादेव के मंदिर लाखों लोगों की आस्था का केन्द्र हैं। यहाँ प्रतिवर्ष माघ पूर्णिमा पर विशाल बेणेश्वर मेला लगता हैं जिसमें लाखों लोग दर्शन, पवित्र स्नान, तर्पण,अस्थि-विसर्जन आदि के लिए आते हैं। धार्मिक सांस्कृतिक पर्यटन में रुचि लेने वाले देशी-विदेशी पर्यटकों के लिए यह एक पुनीत स्थल है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार बेणेश्वर मेला तीन सौ वर्ष से भर रहा है। यहां भविष्यवेत्ता संत मावजी महाराज की गाथाएं हर जगह पर प्रचलित हैं।

 

*बनारस जैसा विकास करने का आग्रह*

 

भेंट के दौरान सांसद कनकमल कटारा और आसपुर के विधयक गोपीचंद मीणा ने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र देकर आग्रह किया कि वे इस प्राचीन पौराणिक स्थल और करोड़ों आदिवासियों और अन्य धर्मावलम्बियों के आस्था स्थल का अपने संसदीय क्षेत्र बनारस की तर्ज पर विकास करायें । उन्होंने प्रधानमंत्री को बेणेश्वर धाम के विकास के लिए बनी विस्तृत परियोजना रिपोर्ट भी प्रेषित की। उन्होंने बताया कि पूर्व में इसके लिए 255 करोड़ का मास्टर प्लान बना था,लेकिन अब इसकी लागत कई गुना बढ़ गई है ।उन्होंने प्रधानमंत्री से आग्रह किया कि वे इस स्थान के महत्व को देखते हुए इसके विकास के लिए केंद्र सरकार से विशेष मदद दिलवाएं ।

 

*विराटेश्वर महाविष्णु महायज्ञ और दशावतार मूर्ति प्रतिष्ठोत्सव सहित कई आयोजन*

इस मौके पर बेणेश्वर धाम के पीठाधीश्वर गोस्वामी अच्युतानंद महाराज ने अवगत कराया कि आगामी 27 सितम्बर से 2 दिसंबर 22 तक डूंगरपुर ज़िले के साबला कस्बें के पास स्थित इस पवित्र पावन बेणेश्वर धाम मावधरा पर श्री हरि मंदिर स्वर्ण शिखर प्रतिष्ठा के भव्य समारोह के साथ ही विराटेश्वर महाविष्णु महायज्ञ और बेणेश्वर निष्कलंक श्री हरिधाम दशावतार मूर्ति प्रतिष्ठोत्सव आदि कई आयोजन प्रस्तावित है,जिसमें प्रधानमंत्री के आगमन से यह कार्यक्रम विराट स्वरूप लेगा और इसकी शोभा और गरिमा और अधिक बढ़ जायेगी । पीठाधीश्वर अच्युतानंद महाराज ने प्रधानमंत्री मोदी को संत मावजी और उनके द्वारा रचित चोपड़ा में छिपीभविष्यवाणीयों के बारे में जानकारी देते हुए चौपड़ों के संरक्षण संवर्धन के लिए सहयोग की अपील की । उन्होंनेबेणेश्वर धाम पर विशाल जनजाति संग्रहालय निर्माण का भी सुझाव दिया प्रधानमंत्री मोदी ने महंत अच्युतानंद महाराज की बातों को सुना और हर संभव सहयोग को आश्वस्त किया।

इस मौके पर सांसद कटारा ने प्रधानमंत्री मोदी को अवगत कराया कि बेणेश्वर धाम के सुनियोजित विकास केलिए 256 करोड की डीपीआर तैयार कर दी जा रही है। ऐसे में इस क्षेत्र के विकास के लिए उनके सहयोग कीआवश्यकता है ।प्रधानमंत्री मोदी ने भी बेणेश्वर धाम की ख्याति के बारे में जानकारी होने की बात कही औरकहा कि बेणेश्वर धाम के विकास के लिए हर संभव सहयोग करेंगे उन्होंने बेणेश्वर धाम पर आयोजित होने वालेस्वर्ण शिखर प्रतिष्ठा कार्यक्रम में आने के लिए भी सहमति दी।

 

इस अवसर पर अच्युतानंद महाराज ,सांसद कटारा और स्थानीय जन प्रतिनिधियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वागड़ की पगड़ी और शाल ओढ़ाई तथा साबला हरि मंदिर की तस्वीर,साहित्य और प्रसादी आदि भेंट की । प्रतिनिधिमंडल में वागड़ अँचल के आजाद पटेल, अरुण भट्ट, वेलजी पाटीदार, प्रिंस पटेल सहित अन्य प्रबुद्ध जन भी मौजूद थे


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines , ,
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like