logo

किसानों ने अपनाये नवाचार

( Read 5567 Times)

14 Mar 18
Share |
Print This Page

किसानों ने अपनाये नवाचार कोटा। जिला कलक्टर रोहित गुप्ता ने मंगलवार को विभिन्न गावों में जाकर कृषि विभाग की योजनाओं से लाभान्वित प्रगतिशील किसानों के नवाचारों को देखा तथा अन्य किसानों को भी इसी प्रकार प्रेरित करने हेतु कृषि विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये।
जिला कलक्टर ने धाकडखेडी में किसान रफीक शेर खान द्वारा राष्ट्रीय बागवानी मिशन के तहत स्थापित ग्रीन हाउस का निरीक्षण किया। यहां किसान द्वारा 2016 वर्गमीटर क्षेत्र में ग्रीन हाउस की स्थापना कर खीरा की खेती की जा रही थी। किसान ने बताया कि 2017 में स्थापित किये गये ग्रीन हाउस में सरकार द्वारा 12 लाख 56 हजार की अनुदान राशि प्रदान की गई थी तथा उसके द्वारा 5 लाख 38 हजार रूपये की हिस्सा राशि लगाकर आधुनिक खेती की शुरूआत की थी। उसे प्रति फसल दो लाख रूपये से अधिक की बचत मिल रही है।
उन्होंने ने पास ही मोहम्मद इकबाल के बागवानी मिशन के तहत स्थापित सौर उर्जा पम्पसेट का भी अवलोकन किया। किसान ने पम्पसेट को उपयोगी बताते हुए कहा कि अनुदान मिलने से उसे अब बिजली की समस्या का स्थायी निदान हुआ है। इससे खेती में भी आवश्यकता पडने पर सिंचाई की जा सकती है।
जिला कलक्टर ने कृषि विभाग के अधिकारियों को सौर उर्जा पम्पसेट के बारे में अन्य किसानों को भी प्रेरित कर अनुदान योजना का लाभ लेने हेतु जागरूक करने के निर्देश दिये। उन्होंने ग्राम झालीपुरा में किसान सूरज सिंह के कृषि विभाग द्वारा अनुदान योजना पर उपलब्ध कराई गई पाइप लाईन एवं कुट्टी की मशीन का भी अवलोकन किया। किसान द्वारा किये जा रहे नवाचारों की जानकारी लेकर जिला कलक्टर ने कहा कि सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए किसान अन्य लोगों को भी जागरूक करें। सूरजसिंह ने बताया कि उसके खेतों में पाइप लाईन से पानी की भी बचत हो रही है तथा पर्याप्त मात्रा में सिंचाई का पानी प्रत्येक खेत तक पहुंच पा रहा है। उसने अनुदान योजना में ही गोबर गैस संयंत्र स्थापित कर घरेलू उपयोग में गैस का उपयोग करने की जानकारी भी अधिकारियों को दी।
जिला कलक्टर ने प्रगतिशील युवा कृषक करणी सिंह झाला द्वारा राष्ट्रीय बागवानी मिशन के तहत तीन हैक्टेयर में शुरू की गई गुलाब की खेती का भी अवलोकन किया एवं विभाग द्वारा प्रदान की जा रही तकनीकी एवं अनुदान सहायता की जानकारी ली। किसान ने बताया कि बीसीए की शिक्षा प्राप्त करने के बाद उसने किसानों को प्रेरित करन के लिए खेती में नवाचार शुरू किये हैं। इसमें प्रारंभिक चरण में गंगानगरी किस्म के गुलाब की खेती की शुरूआत की गई है।
उन्होंने ताथेड में किसान अमृत लाल द्वारा राष्ट्रीय बागवानी मिशन के तहत लगाये गये अमरूद के बाग एवं ड्रिप सिंचाई का भी निरीक्षण किया। इस दौरान प्रशिक्षु आईएएस जसमीत सिंह, उद्यानिकी विभाग के संयुक्त निदेशक रामावतार शर्मा, उपनिदेशक राशिद खान, सहायक निदेशक कृषि (सीएडी) सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like