GMCH STORIES

प्रिया मेनारिया को मिला बेस्ट ड्रिल का अवार्ड

( Read 870 Times)

23 Sep 22
Share |
Print This Page
प्रिया मेनारिया को मिला बेस्ट ड्रिल का अवार्ड

आठ दिवसीस प्रशिक्षण शिविर का हुआ समापन
 सफलता के लिए टाईम मैनेजमेंट जरूरी - प्रो. सारंगदेवोत
केडेट्स ने राजस्थानी, पंजाबी, देश भक्ति गीतों पर जमकर दी प्रस्तुति
विद्यापीठ की प्रिया मेनारिया को मिला बेस्ट ड्रिल का अवार्ड


उदयपुर 22 सितम्बर / 02 राज आर एण्ड वी रेजीमेंट एनसीसी नवानिया की ओर से आयोजित आठ दिवसीय आवसीय प्रशिक्षण शिविर के समापन समारोह का शुभारंभ  गुरूवार को जनार्दनराय नागर राजस्थान विद्यापीठ के कृषि भवन के सभागार में कुलपति प्रो. एस.एस. सारंगदेवोत, ग्रूप कमाण्डर भास्कर चक्रवर्ती, कैम्प कमांडेंट कर्नल ई एन  मनोज, विंग कमांडर मुदित चोरसिया, कमांडर राजेन्द्र कुमार, केप्टन रामचन्द्र ने मॉ सरस्वती की मूर्ति पर पुष्पांजलि एवं दीप प्रज्जवलित कर किया। इससे पूर्व कैडेट्स द्वारा कुलपति प्रो. सारंगदेवोत को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।
केम्प कमांडेट मनोज ने बताया कि 15 सितम्बर से प्रारंभ शिविर में पूरे राजस्थान के 600 कैडेट्स ने भाग लिया।  शिविर में केडेटस को मेप रिडिंग, हेल्थ एण्ड हाईजिंन, फिल्ड क्राफ्ट एण्ड बेटल क्राफ्ट, फायरिंग, पशु प्रबंधन, फैरेरी, सेडलरी, मस्कटरी, आप्टीकल टेªनिंग, टेंट पिचिंग अभ्यास के साथ साथ योगा, सांस्कृतिक एवं खेलकूद प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया गया।
ये रहे विजयी :- समूह नृत्य में काजग राय प्रथम, अमिषा राठौड समूह द्वितिय, सीनियर वर्ग में बेस्ट ड्रिल का अवार्ड सार्जेन्ट प्रिया मेनारिया,  जूनियर वर्ग में भावना कुंवर चुण्डावत को दिया गया।  बॉलीबाल  में विद्यापीठ टीम प्रथम, पाटनी पब्लिक स्कूल द्वितिय स्थान पर रही। रस्सा कस्सी में पाटनी पब्लिक स्कूल प्रथम, विद्यापीठ टीम द्वितिय स्थान पर रही। सभी विजयी प्रतिभागियों को अतिथियों द्वारा मेडल व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। समारोह में केडेट्स द्वारा राजस्थानी, पंजाबी व देश भक्ति गानों पर जमकर प्रस्तुतियॉ दे उपस्थित अतिथियों को मंत्रमूग्ध कर दिया।
प्रो. सारंगदेवोत ने कहा कि आज हम आजादी का 75 वर्ष मना रहे है, इन वर्षो में हमारे अग्रजों ने बहुत बड़ा बलिदान दिया है, जिसमें हमारी सेना का भी महत्वपूर्ण योगदान रहा है, आज हम सुदृढ राष्ट्र में रह रहे है।  युवा अगर हर क्षेत्र में आगे रहेगा तो हमारा देश भी हर क्षेत्र में आगे ही रहेगा। प्रो. सारंगदेवोत ने केडेट्स का आव्हान किया कि जीवन में सफलता के लिए टाईम मैनेजमेंट जरूरी है। उदाहरण देते हुए कहा कि व्यक्ति की औसत आयु 75 वर्ष होती है उसमें से 25 वर्ष सोने में निकाल देते है, 18 से 20 वर्ष कार्य करते है, 6 से 8 वर्ष यात्रा करने में निकाल देते है, 4 से 5 वर्ष खाना खाने में निकाल देते है, 6 से 8 वर्ष किसी की प्रतिक्षा में निकाल देते है, 5 से 6 वर्ष हम कुछ भी नहीं करते है, 5 से 6 वर्ष हम हमारी दैनिक दिनचर्या में निकाल देते है। हर व्यक्ति को दिन के 24 घंटे मिलते है उसका उपयोग कैसे करना है यह आप पर निर्भर है। हम विस्तारित व संकुचित कर सकते है। किताबी ज्ञान के साथ स्किल भी जरूरी है।
संचालन डिम्पल सिंह, सफा शैख ने किया जबकि आभार डॉ. हिम्मत सिंह चुण्डावत ने दिया। इस अवसर पर एएनओ ले. सुनील अरोडा, दीपक सिंह कच्छवा, मनोज कुमार शर्मा, दीपक उपाध्याय, रोशन लाल सालवी, दम्यंती राठौड, दक्षा चौबीसा, देवेन्द्र सिंह भाटी, जेसीओ लक्ष्मण, दीपचंद, शोभाराम, ़ित्रलोक, मनीष , शैलेष , सहित एनसीसी के 600 केडेट्स व अधिकारी मौजूद थे।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines , Education , ,
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like