नीट यूजी 2019 के परिणाम घोषित

( Read 1829 Times)

06 Jun 19
Share |
Print This Page

नीट यूजी 2019 के परिणाम घोषित

नीट परीक्षा मुख्य रूप से भारत के मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में लगभग 66,771 एमबीबीएस और 27,148 बीडीएस सीटों पर प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है। आयुष, बीएससी और एएच मेडीकल कोर्स में प्रवेश भी नीट के जरिए ही किया जायेगा। इस वर्ष से, नीट रिजल्ट 2019 को विदेश में एमबीबीएस और बीडीएस पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए प्रवेश द्वार माना जाएगा।
वर्ष 2019 में, नीट 2019-20 सत्र के लिए कुल 1519375 उम्मीदवारों ने आवेदन किया था जिसमे से 1410755 विद्यार्थी परीक्षा में उपस्थित रहे एवं इनमे से 797042 विधार्थियों ने नीट में अर्हता अंक प्राप्त किये | इनमे भारतीय 795031, विदेशी 315, एनआरआई 1209, विदेशी नागरिक (भारत के) 441, पीआईओ 46 थे |   
 

राजस्थान के नलिन खंडेलवाल ने नीट 2019 की परीक्षा टॉप की है। नलिन को 720 में से 701 नंबर मिले हैं। ऑल इंडिया टॉपर में दूसरे नंबर पर दिल्ली के भाविक बंसल हैं। वहीं, तीसरे टॉपर अक्षत कौशिक हैं, जो यूपी के रहने वाले हैं।

करियर काउंसलर विकास छाजेड़ ने बताया की राजस्थान के कुल 6 विद्यार्थियों ने ओवरआल टॉप 50 में जगह बनाई है जिनमे सभी लड़के है| राजस्थान से कुल 93149 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी थी जिनमे से 64890 विधार्थियो ने अर्हता अंक प्राप्त किये | इस बार सर्वाधिक सफल होने वाले विधार्थी का प्रतिशत दिल्ली का है जबकि वर्ष 2018 में राजस्थान टॉप पर था |  


नीट कटऑफ 2019
जनरल कैटेगरी में कट ऑफ 134 अंकों तक गई है वहीं,  एससी/एसटी और ओबीसी कोटे की कट ऑफ 107 अंकों तक गई है

एनटीए ने न्यूनतम क्‍वालीफाइंग पर्सेंटाइल अथवा नीट कटऑफ निर्दिष्ट किया है। नीट 2019 के कटऑफ के बराबर या उससे अधिक स्कोर करने वाले परीक्षार्थी ही काउंसलिंग के लिए आवेदन कर पाने में सक्षम होंगे। कटऑफ विभिन्न फैक्टर्स पर निर्भर करता है, जिसमें आवेदकों की संख्या, परीक्षा का कठिनाई स्तर, सीट इनटेक और पिछले वर्ष का कटऑफ शामिल हैं। नीट 2019 कटऑफ उपलब्ध सीटों, आरक्षण मानदंड आदि के आधार पर प्रत्येक राज्य के लिए अलग-अलग होगी।
नीट यूजी रिजल्ट 2019 के माध्यम से प्रवेश
15% अखिल भारतीय कोटा सीट, 85% राज्य कोटा सीटें, डीम्ड विश्वविद्यालयों में सीटें, केंद्रीय विश्वविद्यालयों में सीटें, प्रबंधन / एनआरआई सीटें, सेंट्रल पूल सीटें
नीट के अंकों के आधार पर चुने जाने वाले पाठ्यक्रम
एमबीबीएस, बीडीएस, बीयूएमएस, बीएएमएस, बीएचएमएस, बीएसएमएस, बीएनवाईएस, बीवीएससी और एएच पाठ्यक्रम
नीट रिजल्ट 2019 - वैधता
नीट 2019 का रिजल्ट केवल नीट 2019-20 के शैक्षणिक सत्र के लिए मान्य होगा। हालांकि, नीट 2019 का रिजल्ट उन उम्मीदवारों के लिए तीन वर्षों के लिए मान्य है, जो विदेश में एमबीबीएस या बीडीएस कोर्स करना चाहते हैं। मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (MCI) ने 14 मार्च, 2019 को एक आधिकारिक अधिसूचना के माध्यम से कहा था कि नीट का रिजल्ट घोषणा की तारीख से तीन साल की अवधि के लिए मान्य होगा।
वर्ष 2018 की कटऑफ 
पिछले साल 2018 में जनरल कैटेगरी में कट ऑफ 119 अंकों तक गई थी. वहीं,  एससी/एसटी और ओबीसी कोटे की कट ऑफ 96 अंकों तक गई थी


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Education
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like