एनटीए ने जारी की जेईई-मेन उत्तर कुंजी

( Read 4161 Times)

15 Apr 19
Share |
Print This Page
एनटीए ने जारी की जेईई-मेन उत्तर कुंजी

 

उदयपुर । देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई-मेन अप्रैल जो कि इस वर्ष 7 से 12 अप्रैल के मध्य प्रत्येक दिन दो शिफ्टों में संपन्न हुई थी। जिसमें कुल 9 लाख 58 हजार 619 विद्यार्थी शामिल हुए। 

कैरियर काउंसलर विकास छाजेड़ ने बताया कि जेईई-मेन एग्जाम पूर्णतः कम्प्यूटरिकृत होने के कारण एनटीए द्वारा पारदर्शिता दिखाते हुए विद्यार्थियों के प्रश्नपत्र व रिकाॅर्डेड रेस्पोंस के साथ जेईई मेन अप्रैल के सभी प्रश्नपत्रों की उत्तर कुंजी भी जारी कर दी गई है। विद्यार्थियों को उत्तर कुंजी को चुनौती देने का मौका भी दिया गया है। इस संदर्भ में एनटीए की ओर से जारी नोटिस के अनुसार विद्यार्थी 14 से 16 अप्रैल को रात्रि 11ः50 बजे तक उत्तर कुंजी को चुनौती दे सकते है और साथ ही विद्यार्थी 16 अप्रैल तक ही अपने प्रश्नपत्र एवं रिकाॅर्डेड रिस्पांस डाउनलोड कर सकते है।

 

विद्यार्थी जेईई मेन वेबसाइट पर दिए विकल्प पर जाकर अपने रजिस्ट्रेशन नंबर, पासवर्ड अथवा जन्म दिनांक भरकर अपना प्रश्नपत्र एवं रिकाॅर्डेड रिस्पांस डाउनलोड कर सकते हैं। दिए गए प्रश्नपत्र एवं रिकाॅर्डेड रेस्पोंस में विद्यार्थियों द्वारा दिए गए प्रश्न के उत्तर तथा उत्तर की स्थिति को भी जारी किया गया है, अर्थात यह स्पष्ट कर दिया गया है कि विद्यार्थी ने उस संबंधित प्रश्न का क्या उत्तर दिया है या नहीं दिया है, या मार्क आॅफ रिव्यू में रखा है या माॅर्क आॅफ रिव्यू में रखकर उत्तर दिया है। डाउनलोड किए गए प्रश्नपत्र पर विद्यार्थी का नाम, एप्लीकेशन नंबर एवं रोल नंबर अंकित है, साथ ही विद्यार्थी के प्रश्न पत्र में प्रत्येक प्रश्न उसकी प्रश्न आईडी एवं उसके उत्तर को भी विकल्प आईडी के साथ दर्शाया गया है।

 

उत्तर कुंजी चैलेंज करने का प्रक्रिया

विद्यार्थियों के सामने उनके पूरे 90 प्रश्न अलग-अलग प्रश्न आईडी के रुप में प्रदर्शित होंगे एवं उस प्रश्न का सही उत्तर भी सही विकल्प आईडी के रुप में मिलेगा। विद्यार्थी इस प्रश्न आईडी और विकल्प आईडी को डाउनलोड किए गए प्रश्नपत्र से मिलाकर अपने द्वारा दिए गए उत्तरों की जांच कर सकता है। संशय की स्थिति में उसके सामने दिए गए चारों उत्तरों के विकल्प आईडी के विकल्पों में सही विकल्प को चुनकर चैलेंज कर सकता है। प्रत्येक चैलेन्ज किए गए प्रश्न के लिए विद्यार्थी को एक हजार रुपए का शुल्क प्रोसेसिंग फीस के रुप में देना होगा। जो कि डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड व नेट बैंकिंग के माध्यम से देय होगा। यदि चैलेन्ज किया हुआ उत्तर सही पाया जाता है तो विद्यार्थी को यह शुल्क लौटा दिया जाएगा। विद्यार्थी एक या एक से अधिक प्रश्नों को भी चुनौती कर सकता है। इसके साथ ही चैलेंज किए गए प्रश्नों के लिए संबंधित दस्तावेज को स्कैन कर अपलोड भी कर सकता है। इस प्रक्रिया के उपरांत विद्यार्थी को प्रोसेसिंग शुल्क का भुगतान करना होगा।

 

सिर्फ एक प्रश्न ड्राॅप

जेईई मेन जनवरी की अपेक्षा जेईई मेन अप्रैल के पेपर की गुणवत्ता में सुधार देखने को मिला है। जेईई मेन जनवरी में जहां 11 प्रश्नों को ड्राॅप किया गया था वहीं जेईई मेन अप्रैल में मात्र एक प्रश्न को ड्राॅप किया गया है। जोकि 10 अप्रैल को सुबह की शिफ्ट के पेपर में शामिल था।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Education
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like