GMCH STORIES

हरी शेवा उदासीन आश्रम का हरिद्वार महाकुंभ पर्व

( Read 1472 Times)

13 Apr 21
Share |
Print This Page

हरी शेवा उदासीन आश्रम का हरिद्वार महाकुंभ पर्व

श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन के तत्वावधान में हरी शेवा उदासीन आश्रम का हरिद्वार महाकुंभ पर्व के दौरान 12.04.2021 सोमवार सोमवती अमावस्या पर प्रथम शाही स्नान बड़े ही हर्षोल्लास के साथ सम्पन्न हुआ। महामंडलेश्वर स्वामी हंसराम उदासीन ने बताया कि इस शाही स्नान में अखाड़ा परिषद एवं प्रशासन द्वारा तय किए गए मार्ग एवं समय पर विभिन्न अखाड़ों,आश्रमों ने अपनी  सहभागिता दर्ज कराई। परम्परा अनुसार हर की पौडी घाट पर संत महापुरूष एवं भक्तजन शामिल होकर शाही स्नान का लाभ प्राप्त करते हैं। जिसमे श्री महंत महेश्वर दास जी महाराज, श्रीमान महंत दुर्गा दास जी महाराज, श्रीमान महंत रघुमुनि जी महाराज, श्रीमान महंत अद्वैतानंद जी महाराज,  मुकामी, महंत, एवं भ्रमणशील निर्वाण मण्डल और महामण्डलेश्वर कार्ष्णि रमणरेती के स्वामी गुरूशरणानन्द जी महाराज, महामण्डलेश्वर स्वामी हंसराम जी उदासीन भीलवाड़ा,  महामण्डलेश्वर स्वामी ज्ञानानन्द जी गीता मनीषी जी महाराज, महामण्डलेश्वर स्वामी कपिल मुनि जी महाराज ,श्री महन्त आत्माराम जी महाराज, महामण्डलेश्वर स्वामी विवेकानंद जी महाराज, महामण्डलेश्वर स्वामी भगवतस्वरूप जी महाराज, महामण्डलेश्वर स्वामी हरिचेतना नन्द जी महाराज, महामण्डलेश्वर स्वामी संतोषानन्द जी महाराज हरिद्वार,महामण्डलेश्वर स्वामी जगदीश दास जी महाराज पलवल,श्री महन्त भरतदास जी महाराज रानोपाली अयोध्या, श्री महन्त स्वरूप दास जी महाराज अजमेर, श्री महन्त हनुमान राम जी महाराज पुष्कर, श्रीमान महन्त अमृतमुनी मानसा,श्रीमान महन्त महात्मा मुनि जी खेड़ावेट सभी सन्तो महन्तो ने प्रथम शाही स्नान सम्पन्न किया और उदासीन अखाड़े की शाही श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन कनखल हरिद्वार से शंकराचार्य चौक से होते हुए हर की पौड़ी पहुंची वहाँ गंगा पूजन अर्चन होकर शाही स्नान हुआ।हाथी ,घोड़ों और बैंड बाजों के साथ शुरू हुई शोभायात्रा का स्वागत अनेक स्थानों पर पुष्पवर्षा द्वारा किया गया। स्नान पश्चात संत महापुरूष भक्तजन बड़ा उदासीन  अखाड़ा पहुँचे। धर्म ध्वजा की पूजा एवं अरदास प्रार्थना  और अखाडे मे हरीशेवा छावनी की तरफ से सन्तो का भण्डारा हुआ और नित्य की भाँति प्रातः काल मे मण्डल पूजा, गंगा पूजन  रुद्राभिषेक, एवं हवन सम्पन्न हुऐ। विभिन्न आयोजनों में कोटा,जयपुर, अजमेर, काशी, भीलवाड़ा,सूरत, किशनगढ़‌ आदि स्थानों से आए अनेक श्रद्धालुओं ने भाग लिया। महाकुंभ पर्व पर कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए मां गंगा से इस महामारी से मुक्ति की प्रार्थना की गयी।

 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Chintan
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like