logo

महंगाई सात माह के उच्च स्तर पर

( Read 1970 Times)

14 Nov 17
Share |
Print This Page
नई दिल्ली | खाद्यपदार्थों खासतौर पर सब्जियों के दाम बढ़ने अौर पेट्रोल महंगा होने से रिटेल महंगाई बढ़कर अक्टूबर में 3.58 फीसदी हो गई जो सात माह का उच्च स्तर भी है। इससे पहले इसका उच्च स्तर मार्च में 3.89 फीसदी का रहा था। गत माह सितंबर में यह दर 3.28 फीसदी रही थी। सांख्यिकी एवं कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, अक्टूबर में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) पर आधारित महंगाई दर में हालांकि, साल-दर-साल आधार पर गिरावट आई है। यह साल 2016 के अक्टूबर में 4.20 फीसदी दर्ज की गई थी। उपभोक्ता खाद्य मूल्य सूचकांक बढ़कर 1.90 फीसदी रहा, सितंबर में यह 1.25 फीसदी था। सब्जियों की कीमतों में मूल्य वृद्धि की दर 7.47 फीसदी रही जो सितंबर के स्तर 3.92 से लगभग दुगुनी रही। अंडों और दूध के दाम भी बढ़े जबकि फल इस माह सस्ते हो गए। दालों की महंगाई घटकर -23.12 फीसदी रह गई जबकि यह सितंबर में भी -22.51 फीसदी थी। दिसंबर में पॉलिसी रेट कट मुश्किल अबसबकी निगाहें दिसंबर में होने वाली रिजर्व बैंक की छठी द्विमासिक मौद्रिक नीति कमेटी की बैठक पर है। रिटेल महंगाई जून से लगातार बढ़ रही है। एल एंड टी फाइनेंशियल की ग्रुप चीफ इकनॉमिस्ट रूपा रेगे के मुताबिक खाद्य वस्तुओं पर महंगाई 50 बेसिस पॉइंट और ईंधन पर 80 बेसिस पॉइंट बढ़ने से खुदरा महंगाई दर बढ़ी है। उन्होंने कहा कि अब ऐसी स्थिति में दिसंबर में पॉलिसी रेट कट का मौका भी हाथ से जा सकता है। वैश्विक स्तर पर कच्चे तेलों की कीमतों में वृद्धि और अमेरिका में विकास की मजबूती से आरबीआई को अपने हाथ बांधे रखने पड़ सकते हैं।

Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Business News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like