logo

राजस्थान अनुसूचित जाति की सूची में 'चमार' की उपजाति 'ऐरवाल' जाति जुड़वाने की मांग

( Read 17610 Times)

27 Dec 17
Share |
Print This Page

भीलवाड़ा / आज प्रांतीय ऐरवाल महासभा , राजस्थान की युवा जिला इकाई -भीलवाड़ा की बैठक मुखर्जी उद्यान में युवा जिलाध्यक्ष जीवन ऐरवाल की अध्यक्षता में आयोजित की गई ।
प्रांतीय सम्मेलन 31 दिसबंर को बारा में होने जा रहा है , समाज बन्धु अधिक से अधिक संख्या में जाने की अपील की ।
जिसके बाद बैठक में निर्णय लेकर राजस्थान अनुसूचित जाति की सूची में 'चमार' जाति के साथ साथ चमार की उपजाति 'ऐरवाल' जाति जुड़वाने की मांग को लेकर जिला कलेक्टर व सांसद सुभाष बहेड़िया को मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के नाम ज्ञापन दिया गया ।
युवा जिलाध्यक्ष जीवन ऐरवाल ने बताया कि ज्ञापन में उल्लेख किया गया कि ऐरवाल जाति जो चमार जाति शब्द का ही पर्याय उपनाम है, को राजस्थान अनुसूचित जाति की सूची में चमार के साथ उपजाति ऐरवाल के रूप में जुड़वाने हेतु हमारे समाज ने राज्य सरकार व भारत सरकार से कई बार निवेदन किया है । जिसके सन्दर्भ में *शीघ्र कार्यवाही हेतु पुनः अभिशंषा भिजवाने हेतु भीलवाड़ा के लोकसभा सांसद सुभाष जी बहेड़िया को ज्ञापन दिया गया जिस पर उन्होंने पुनः अभिशंषा भिजवाने के लिए पत्र लिखकर मुख्यमंत्री महोदया को भिजवा दिया है । साथ ही जिला कलेक्ट्रेट में अतिरिक्त जिला कलेक्टर को भी मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौपा गया ।
*ज्ञापन के दौरान भाजपा एस. सी. मोर्चा के पूर्व जिला उपाध्यक्ष दयाराम दिव्य*, युवा जिला अध्यक्ष जीवन ऐरवाल , युवा जिलाउपाध्यक्ष ओम प्रकाश ऐरवाल ,जिला महामंत्री हेमराज , युवा जिला महासचिव तुलसीराम , प्रवक्ता राजू ,आसींद तहसील अध्यक्ष सत्यनारायण व उपाध्यक्ष सावर , शाहपुरा युवा तहसील अध्यक्ष महावीर व उपाध्यक्ष हेमराज व सहाड़ा युवा तहसील अध्यक्ष मनोज ऐरवाल आदि सहित कई समाजजन उपस्थित थे ।
Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Bhilwara News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like