अभिरूचि से व्यक्तित्व में आता है निखारः जाटोल

( Read 1178 Times)

13 May 19
Share |
Print This Page
अभिरूचि से व्यक्तित्व में आता है निखारः जाटोल

बाडमेर। ’अभिरूचि शिविर से बच्चों के व्यक्तित्व में निखार तो आता ही है साथ ही साथ उनका सर्वांगीण विकास भी होता है। ग्रीष्मकालीन अवकाश में संस्थानों की ओर से लगाया गए शिविर से निश्चित रूप से संभागी लाभांवित होंगे।‘

   यह बात भारत विकास परिषद के अध्यक्ष ताराचंद जाटोल ने भारत विकास परिषद एवं बाडमेर जन सेवा समिति के संयुक्त तत्वावधान में स्थानीय सेवा सदन में शनिवार को प्रारंभ हुए अभिरूचि शिविर के शुभारंभ अवसर पर कही। बाडमेर जन सेवा समिति के अध्यक्ष ओमप्रकाश मेहता ने कहा कि हैण्डराइटिंग एण्ड केलिग्राफी, डांस एण्ड पर्सनल्टी डवलपमेंट, मेहंदी आदि के बारे में संभागियों को एक माह तक अभ्यास करवाया जाएगा। निःशुल्क चल रहे इस शिविर से होनहार संभागी सामने आएंगे।

   भारत विकास परिषद के सचिव ओम जोशी ने बताया कि शिविर का उद्देश्य बच्चों का सर्वांगीण विकास करना है। इसमें समय-समय पर अभिरूचियों के अलावा विभिन्न विषयों के विशेषज्ञों द्वारा वार्ताएं दी जाएगी। उन्होंने बताया कि शिविर में कई तरह के नवाचार करवाए जाएंगे, जिससे संभागियों को वर्तमान में घटित हो रही विभिन्न जानकारियां उपलब्ध हो सकें। प्रशिक्षिका अनिता लखानी ने कहा कि शिविर में भाग लेने हेतु ६ से १२ वर्ष के बालक तथा ६ से १६ वर्ष तक की बालिकाएं पंजीकरण हेतु स्थानीय सेवा सदन में संफ कर सकती है। इस मौके पर शिविर प्रभारी श्रीमती वंदना तापडया ने विभिन्न घटकों से इस हेतु जनसंफ का कार्य प्रारंभ कर दिया है। शिविर में प्रतिदिन प्रार्थना, ध्यान, योग एवं अभिरूचियों से संबंधित जानकारियां प्रदान की जा रही है। इस मौके पर पुरूषोतम खत्री, ओमप्रकाश गुप्ता, ताराचंद चौपडा, जसवंत गौड आदि उपस्थित रहे।   

 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Barmer News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like