logo

भगवान शिव योग के प्रथम आदि गुरू -जोशी

( Read 1062 Times)

20 Jun 18
Share |
Print This Page
भगवान शिव योग के प्रथम आदि गुरू -जोशी बाडमेर । योग विद्या का उद्भव हजारो वर्ष पुराना है। श्रृति परम्परा के अनुसार भगवान शिव योग विद्या के प्रथम आदि गुरू ,योगी या आदियोगी है। हजारो हजार वर्ष पूर्व हिमालय में कांति सरोवर झील के किनारे आदियोगी ने योग का ज्ञान दिया था यह बात नेहरू युवा केन्द्र बाडमेर व भारत सरकार के फील्ड आउटरीच ब्यूरो के संयुक्त तत्वावधान में बालोतरा मुख्यालय पर आयोजित युवा पडौस संसद कार्यक्रम में जिला युवा समन्वयक ओम प्रकाश जोशी ने कही।
जोशी ने इस अवसर पर युवाओ से अपील की कि वे अपने अपने क्षेत्रो में इस प्रकार का वातावरण बनाये कि अधिक से अधिक लोग योगा कार्यक्रम में शामिल हो। उन्होने युवाओ को स्वच्छ भारत ग्रीष्मकालीन इर्न्टशिप कार्यक्रम के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी।
पंतजलि के योग शिक्षक करना राम हुडा ने युवाओ को योगाभ्यास कराते हुए कहा कि योग मन और शरीर के बीच सामजस्य स्थापित करता है उन्होने युवाओ को २१ जून को होने वाली २१ योग क्रियाओ का अभ्यास कराते हुए इससे होने वाले फायदो के बारे में भी बताया तथा युवाओ को योगा को जीवन में अपनाने की सलाह दी।
इसी कडी में पंताजलि योग प्रशिक्षक ने कहा कि योग से रोग भाग जाते है, इसलिये स्वस्थ जीवन के लिये योग जरूरी है। उन्होने युवाओ को योगाभ्यास के सामान्य दिशा निदेशो की जानकारी देतं हुए बताया कि योग अभ्यास करते समय खाली पेट अथवा अल्पाहार लेकर करना चाहिए। यदि अभ्यास के समय कमजोरी महसूस करें तो गुनगुने जल में थोडी सी शहद मिलाकर लेना चाहिए। योग अभ्यास मल एवं मूत्र का विसर्जन करने के उपरान्त प्रारम्भ करना चाहिए। अभ्यास करने के लिए चटाई, दरी, कंबल अथवा योग मैट का प्रयोग करना चाहिए। इस दौरान उन्होने युवाओ को योगाभ्यास भी कराया।

फील्ड आउटरीच ब्यूरो के अधिकारी नरेन्द्र तनसुखाणी ने युवाओ को नशे की लत से दूर रहने की बात करते हुए कहा कि योग के माध्यम से हमारा शरीर और मन दोनो स्वस्थ रहते है । इस अवसर पर तनसुखाणी ने भारत सरकार की उज्जला योजना, प्रधानमंत्री जन धन योजना,सहित विभिन्न फलेगशिप योजनाओ की जानकारी देकर युवाओ से आह्वान किया कि वे इन योजनाओ को आम जन तक पहुचाने का कार्य करे।
कार्यक्रम में बालाजी प्रशिक्षण संस्थान के प्रभारी उगमराज ने युवाओ को हुनरमद होने की बात कही। उन्होने युवाओ को कहा कि लक्ष्य निर्धारित कर आगे बढे ताकि उससे शीध्र सफलता मिलती है । कार्यक्रम में प्रशिक्षक सुनिल ंसह ने भारत सरकार व राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न कौशल प्रशिक्षणो की जानकारी प्रदान की।




Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Barmer News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like