logo

डायलाब में दिखे दुर्लभ प्रजाति के प्रवासी पक्षी रेड क्रस्टेड पोचार्ड

( Read 551 Times)

07 Feb 19
Share |
Print This Page

डायलाब में दिखे दुर्लभ प्रजाति के प्रवासी पक्षी रेड क्रस्टेड पोचार्ड

बांसवाड़ा,   जिले की प्रदूषणमुक्त आबोहवा न सिर्फ स्थानीय अपितु दूरस्थ देशों के प्रवासी पक्षियों को भी बेहद रास आ रही है, इसी का ताजा उदाहरण बांसवाड़ा जिला मुख्यालय पर डायलाब झील में दिखाई दे रहा है जहां पर वागड़ नेचर क्लब के सदस्य को एक दो नहीं अपितु एक साथ दो दर्जन से अधिक दुर्लभ प्रजाति के प्रवासी पक्षी रेड क्रस्टेड पोचार्ड दिखाई दिए।

यह दुर्लभ प्रवासी पक्षी क्लब के सदस्य हार्दिक लोढ़ा ने बर्डवॉचिंग के दौरान देखे और इनकी फोटोग्राफी भी की। इन पक्षियों की एक साथ इतनी बड़ी संख्या में दिखाई देने पर पक्षीप्रेमियों ने खुशी जताई है। 

गहरे पानी का सुंदर प्रवासी पक्षी:  राजपूताना नेचुरल हिस्ट्री सोसायटी भरतपुर के संस्थापक एवं प्रदेश के प्रसिद्ध पक्षी विज्ञानी डॉ. एस.पी.मेहरा ने बताया कि रेड क्रस्टेड पोचार्ड प्रवासी पक्षी है और यह रशिया व तुर्कमेनिस्तान से यहां सर्दियां बिताने आता है। गहरे पानी को पसंद करने वाला सुंदर दिखाई देने वाला यह पक्षी डुबकी लगाने वाला पक्षी है। उन्होंने बताया कि पूर्व में वर्ष 2011 में यह दक्षिणी राजस्थान में दिखाई दिया था औैर सामान्य तौर पर यह प्रतिवर्ष नहीं दिखाई देता है। उन्होंने बताया कि इसका इतनी बड़ी संख्या मंे दिखाई देना वागड़ अंचल की प्रदूषणमुक्त आबोहवा का ही प्रभाव माना जा सकता है।  उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व इसी साल जनवरी माह में वन विभाग, बांसवाड़ा के तत्वावधान में आयोजित राजस्थान जलीय पक्षी गणना दौरान जंतोड़ा तालाब में मात्र एक तथा तलवाड़ा के पातेला तालाब में एक दर्जन से अधिक रेड क्रस्टेड पोचार्ड दिखाई दिए थे। 

 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Banswara News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like