logo

गढ़ी में विशाल विधिक सेवा शिविर का हुआ आयोजन

( Read 1070 Times)

04 Feb 19
Share |
Print This Page
गढ़ी में विशाल विधिक सेवा शिविर का हुआ आयोजन

बांसवाड़ा,  राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा जारी मॉडल स्कीम के तहत जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, तालुका विधिक सेवा समिति गढ़ी व जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वावधान में रविवार को गढ़ी के हिम्मत खेल मैदान में विशाल विधिक सेवा शिविर का आयोजन किया गया। 
शिविर की अध्यक्षता पारिवारिक न्यायाधीश श्री धीरेन्द्रसिंह राजावत ने की वहीं अतिथियों के रूप में अतिरिक्त जिला कलक्टर हिम्मतसिंह बारहठ, पोक्सो केसेज के विशिष्ट न्यायाधीश मोहम्मद आरिफ, गढ़ी एसडीओ प्रभुदयाल शर्मा, बार ऐसोसियेशन गढ़ी के अध्यक्ष शिवलाल पुरी व बार ऐसोसियेशन बांसवाड़ा के अध्यक्ष अजीतसिंह चौहान थे। 
शिविर के शुभारंभ दौरान विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव देवेन्द्रसिंह भाटी ने शिविर के आयोजन पर प्रकाश डालते हुए दिव्यांग, महिलाओं, बच्चों, श्रमिकों, कृषकों, जनजातिजनों, विद्यार्थियों के अधिकारों व उनके लिए नाल्सा द्वारा चलाई जा रही विविध योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने इस दौरान पीडि़त प्रतिकर स्कीम व साक्षी संरक्षण स्कीम के बारे में भी बताया। 
शिविर दौरान सामाजिक सुरक्षा अधिकारी पुनीत रावल ने सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की योजनाओं, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ब्रजराजसिंह ने मौताणा, अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी रमेश शर्मा ने तंबाकू के दुष्परिणामों के बारे में संभागियों को जानकारी दी। 
शिविर को संबोधित करते हुए पारिवारिक न्यायाधीश श्री धीरेन्द्रसिंह राजावत ने संवैधानिक मूल्यों, मौलिक अधिकारों व कर्त्तव्यों की जानकारी दी तथा जनजातीय क्षेत्र में व्याप्त सामाजिक कुरीतियों यथा मौताणा, डायन प्रथा के उन्मूलन की आवश्यकता जताई। उन्होंने बालिका शिक्षा संवर्धन व पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रयास करने का आह्वान किया।
कल्पवृक्ष व गुग्गल का रहा आकर्षण:
समारोह दौरान कल्पवृक्ष व गुग्गल की विशिष्टताओं को दर्शाने वाले पेम्पलेट का विमोचन भी किया गया। अतिथियों को स्मृति चिह्न के रूप में कल्पवृक्ष का पौधा व फल प्रदान किया गया। मौके पर एक हजार से अधिक गुग्गल के पौधे भी वितरित किए गए।  
जागरूकता कार्यक्रमों का हुआ आयोजन:
समारोह दौरान कठपुतली नृत्य के माध्यम से सामाजिक संदेश दिए गए वहीं मौताणा, डायन प्रथा तथा नशा मुक्ति के संबंध में नुक्कड़ नाटक का मंचन किया गया। नाल्सा थीम सोंग ‘एक मुट्ठी आसमां’, ‘बेटी की किलकारी’ गीत का एलईडी पर प्रदर्शन किया गया। कल्पवृक्ष के गुणों के संबंध में जिला एवं सेशन न्यायाधीश श्री फूलसिंह तोमर के विडियो संदेश का भी प्रसारण किया गया। 
योजनाओं की जानकारी के साथ मिली राहत:
सामारोह में विभिन्न लोककल्याणकारी योजनाओं की जानकारी मिली वहीं दिव्यांगजनों को 8 ट्राईसाईकिल, 8 व्हील चेयर, 75 श्रवण यंत्र, उज्जवला योजना के 11 कनेक्शन, 3 मेधावी बच्चांे को लेपटॉप, 5 को हमारी बेटी योजना के चैक, 10 विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति, 3 श्रमिक आश्रितों को दो-दो लाख रुपयों के चैक दिए गए वहीं महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा 25 महिलाओं की मातृवंदना व 10 की गोद भराई की गई। 
मौके पर 10 वरिष्ठ नागरिकों को रोडवेज के स्मार्ट कार्ड, 5 आवासीय पट्टे, 11 किसानों को 1 लाख 22 हजार का कृषि ऋण, 8 बीपीएल कनेक्शन, 22 सिंचाई पाईप लाईन कनेक्शन, 55 वृद्धावस्था पेंशन, 2 को विधवा पेंशन, 2 को विशेष योग्यजन पेंशन 29 बच्चों को पालनहार पेंशन, 5 बच्चों को उपहार योजना का लाभ प्रदान किया गया वहीं 50 व्यक्तियों के आपसी सहमति से भूमि बंटवारे करवाते  हुए पौष्टिक पशुआहार के 500 पैकेट्स का भी वितरण किया गया। शिविर दौरान एक हजार लोगों को आयुर्वेद विभाग द्वारा काढ़ा पिलाया गया। समारोह में एनजीओ द्वारा भी योगदान दिया गया। कार्यक्रम के अंत में अतिथियों ने विधिक जागरूकता रैली को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया गया। 
शिविर दौरान अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश कुलदीप सूत्रकार, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट दीपक कुमार सोनी, अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट कुसुम सूत्रकार, अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट कुशलगढ़ पूरणसिंह मीणा, न्यायिक मजिस्ट्रेट श्रीमती आशा चारण, न्यायिक मजिस्ट्रेट इंद्रकुमार मीणा, ग्राम न्यायालय के न्यायाधीकारी सुश्री निष्ठा पाण्डे, अतिरिक्त न्यायिक मजिस्ट्रेट विकास जैन सहित बड़ी संख्या में एनजीओ प्रतिनिधि व प्रबुद्धजन मौजूद रहे। 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Banswara News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like