logo

ग्रामीण विकास राज्यमंत्री और संसदीय सचिव ने किया दौरा

( Read 1449 Times)

15 Feb, 18 11:07
Share |
Print This Page
ग्रामीण विकास राज्यमंत्री और संसदीय सचिव ने किया दौरा बांसवाड़ा,मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे द्वारा सोमवार को प्रस्तुत किए गए बजट भाषण में बांसवाड़ा जिले में अनास नदी पर बांध निर्मित कर वर्तमान माही बांध से सिंचित 35 हजार हैक्टेयर भूमि को सिंचाई सुविधा उपलब्ध करवाने की घोषणा के बाद क्षेत्र में जनता की भावनाओं को समझने के लिए प्रदेश के ग्रामीण विकास व पंचायती राज राज्यमंत्री धनसिंह रावत तथा संसदीय सचिव भीमाभाई ने बुधवार को अनास नदी क्षेत्र का दौरा किया।
राज्यमंत्री रावत तथा संसदीय सचिव भीमाभाई जल संसाधन विभाग के अधिकारियों के साथ हेजामाल के समीप ग्राम पंचायत महुड़ी स्थित अनास नदी पहुंचे। दो किलोमीटर से अधिक पैदल चलकर राज्य मंत्रीद्वय तथा अधिकारी यहां पहुंचे। उन्होंने यहां पर नदी क्षेत्र का अवलोकन किया। उन्होंने यहां पर जल संसाधन विभाग में उपलब्ध दस्तावेजों के अनुसार पूर्व में हुई सर्वे, वर्तमान स्थिति के बारे में अधिकारियों से जानकारी ली। जल संसाधन विभाग के अधीक्षण अभियंता जितेन्द्र वर्मा ने वर्ष 1966-67 में हुई सर्वे के बारे में जानकारी दी और इससे लाभांवित तथा प्रभावित होने वाले क्षेत्र के बारे में बताया। राज्यमंत्री रावत ने कहा कि नदी की चौड़ाई और गहराई काफी अधिक है और इससे वर्षा ऋतु में बहुत ज्यादा पानी बहकर व्यर्थ चला जाता है।
जनता व जनप्रतिनिधियों से किया संवाद:
अनास नदी क्षेत्र के अवलोकन के दौरान राज्यमंत्री रावत व संसदीय सचिव ने यहां पर पहुंचे सैकड़ों की संख्या में लोगों से व्यक्तिगत संवाद किया और यहां पर वर्तमान में सिंचाई के साधनों की उपलब्धता, कृषि पैदावार, बांध बनने की संभावनाओं और इससे प्रभावित होने वाले लोगों के बारे में जानकारी ली। उन्होंने स्थानीय ग्राम पंचायत के सरपंच के साथ आसपास की गांवों से आए कई सरपंचों और अन्य जनप्रतिनिधियों से भी बात करते हुए फीडबैक लिया। इससे पूर्व यहां पहुंची जिला प्रमुख श्रीमती रेशम मालवीया, गांगड़तलाई प्रधान सुभाष तंबोलिया, बागीदौरा प्रधान शांता गरासिया, सज्जनगढ़ प्रधान मोती भूरिया, पूर्व प्रधान सवलाल डिण्डोर सहित कई जनप्रतिनिधियों ने राज्यमंत्री से मुलाकात की। इस मौके पर बांसवाड़ा प्रधान दूधालाल, समाजसेवी योगेश जोशी, रणछोड़ पाटीदार, पूर्व प्रधान देवजी भाई, प्रताप पटेल, राजीव ओझा सहित कई जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।
जनता की भावनाओं को पहुंचाएंगे सरकार तक: रावत
अनास नदी क्षेत्र के अवलोकन के बाद राज्यमंत्री रावत ने स्थानीय ग्रामीणों व जनप्रतिनिधियों की एक बैठक ली और कहा कि अनास नदी पर बांध के लिए मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे की घोषणा के बाद उन्होंने जल संसाधन विभाग के आला अधिकारियों के साथ जिला कलक्टर, जिला पुलिस अधीक्षक तथा अधीक्षण अभियंता से जानकारी ली है। उन्होंने कहा कि 53 साल पहले हुई सर्वे के अनुसार यहा प्रस्तावित बांध 228 मीटर का था जिसे अब 10 मीटर अर्थात 33 फीट घटाकर 218 मीटर कर दिया गया है। सरकार की मंशा है कि स्थानीय निवासियों को 26 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने यह भी कहा कि जनहित को देखते हुए यहां पर नदी में ही सीरिज चैकडेम भी बनाए जा सकते हैं ताकि सिंचाई सुविधा मिल सके। उन्होंने कहा कि अब बांध निर्माण के संबंध में आम जनता की भावनाओं को जानने के लिए राज्य सरकार के निर्देश पर हम यहां पहुंचे हैं और जनता द्वारा जो भी फिडबैक दिया जाएगा उससे राज्य सरकार को अवगत करा दिया जाएगा।
इस मौके पर संसदीय सचिव भीमाभाई ने भी संबोधित किया और कहा कि हमनें विभागीय अधिकारियों से जानकारी ली है और आमजनता की भावनाओं के बारे में भी पता लगा लिया है। उन्होंने कहा कि जनभावनाओं को सरकार तक पहुंचाने के लिए वे गुरुवार को जयपुर में मुख्यमंत्री से मुलाकात करेंगे और अंतिम निर्णय वहीं से होगा।
कलक्टर और एसपी से की मुलाकात:
इससे पूर्व राज्यमंत्री धनसिंह रावते ने आज सुबह सर्किट हाउस में जिला कलक्टर भगवतीप्रसाद, एसपी कालूराम रावत से मुलाकात की और अनास नदी पर बांध की प्रस्तावित बजट घोषणा पर तथ्यात्मक जानकारी ली। इस दौरान कलक्टर भगवतीप्रसाद ने पूर्व में हुई सर्वे और वर्तमान सर्वे के अनुसार प्रस्तावित बांध को दस मीटर कम किए जाने के बारे में बताया तथा कहा कि इस बांध के निर्माण से अपर हाई लेवल केनाल के माध्यम से 26 हजार हेक्टेयर क्षेत्र को सिंचाई सुविधा से लाभांवित किया जा सकेगा।
मुख्यमंत्री को दी जानकारी:
इधर, देर शाम प्रदेश के ग्रामीण विकास व पंचायती राज राज्यमंत्री धनसिंह रावत ने मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे को दूरभाष पर बुधवार को किए गए दौरे के तहत प्राप्त फिडबैक की जानकारी दी। रावत ने दौरे के तहत किए गए निरीक्षण और जनप्रतिनिधियों तथा आमजन के साथ हुए संवाद के बारे में बताया।
Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Banswara News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like