logo

राज्य बजट पर ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज राज्यमंत्री ने की

( Read 1988 Times)

14 Feb, 18 11:22
Share |
Print This Page
राज्य बजट पर ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज राज्यमंत्री ने की बांसवाड़ा, राज्य की मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे ने अपने बजट भाषण में बांसवाड़ा जिले को कई सारी सौगातें देते हुए इस क्षेत्र की विकास की मंशा को उजागर किया है। अब हमें मिलजुलकर इन घोषणाओं को मूर्त रूप प्रदान कर विकास करना है। यह उद्गार प्रदेश के ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग के राज्यमंत्री धनसिंह रावत ने मंगलवार को यहां सर्किट हाउस में राजस्थान बजट पर मीडियाकर्मियों को संबोधित करते हुए व्यक्त किए।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने किसानों के कर्जों व लगान की माफी की घोषणा के साथ कई प्रकार की घोषणाओं के माध्यम से इस अंचल के किसानों और आमजन को राहत देने वाला बजट प्रस्तुत किया है तथा रोजगार के अवसर मुहैया करवाने के लिए नवीन भर्तियों की घोषणा के साथ हजारों करोड़ों की योजनाएं प्रस्तावित की हैं। उन्होंने बताया कि राज्य बजट घोषणा में बांसवाड़ा जिले में अनास नदी पर बांध निर्मित कर वर्तमान माही बांध से सिंचित 35 हजार हैक्टेयर भूमि को सिंचाई सुविधा उपलब्ध करवाने की घोषणा की गई है। एक हजार करोड़ की लागत वाली इस परियोजना से माही बांध के 7.24 टीएमसी पानी की बचत होगी, जिसे अन्यत्र सिंचाई एवं पेयजल के लिए काम में लिया जाएगा।
इसी प्रकार माही बांध से अपर हाईलेवल केनाल निकालकर बांसवाड़ा के सज्जनगढ़, बागीदौरा एवं गांगड़तलाई के 26 हजार हैक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा के सृजन हेतु 2 हजार करोड़ की परियोजना की घोषणा के माध्यम से किसानों को राहत प्राप्त होगी। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने जनजाति उपयोजना क्षेत्र के 1 लाख 70 हजार 660 किसान जिनके घरों पर विद्युत कनेक्शन नहीं है, उन्हें सोलर लैंप दिए जाएंगे वहीं शैक्षिक विकास की मंशा से जनजाति क्षेत्र में 1 हजार नवीन माँ-बाड़ी केन्द्र प्रारम्भ किए जाएंगे। उन्होंने प्रतियोगी प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी कर रही छात्राओं के लिए डूंगरपुर, प्रतापगढ़ एवं बांसवाड़ा में 100 छात्राओं की क्षमता के एक-एक बहुद्देश्यीय छात्रावास की स्थापना, गोविन्द गुरु जनजातीय विश्वविद्यालय में दो छात्रावासों के निर्माण, जनजाति अंचल के खेल छात्रावासों को स्पोर्ट्स एकेडमी के रूप में अपग्रेड करने को इस अंचल के विद्यार्थियों व खिलाड़ियों के लिए वरदान बताया।
उन्होंने बताया कि जनजाति क्षेत्र में सिंचाई सुविधा के विकास के लिए पांच एनीकटों के निर्माण तथा सौर ऊर्जा के माध्यम से नवीन सामुदायिक जलोत्थान सिंचाई योजनाओं की क्रियान्विति भी प्रस्तावित है। उन्होंने बताया कि सरकार ने शहीदों को सम्मान दिलाने के लिए जिला मुख्यालयों पर शहीद स्मारक बनाने की घोषणा की है वहीं बांसवाड़ा जिला मुख्यालय पर नयी मेवाड़ भील कोर बटालियन स्थापित करने की घोषणा को मूर्त रूप देते हुए इसके लिए 1 हजार 161 कांस्टेबल की भर्ती तथा बटालियन की स्थापना पर 110 करोड़ 73 लाख रूपये बजट में प्रस्तावित किए गए है। उन्होंने मानगढ़ धाम पर जनजाति स्वतंत्रता संग्राम संग्रहालय के लिए निर्माण के लिए 7 करोड़ की नवीन स्वीकृति की भी घोषणा की भी जानकारी दी।
उन्होंने बताया कि पहली बार बांसवाड़ा के प्राकृतिक सौंदर्य को पर्यटन मानचित्र पर उचित स्थान प्रदान करने के लिए माही बांध परिक्षेत्र में दस करोड़ रुपयों की लागत से ‘हण्डेªड आईलेण्ड क्षेत्र’ का विकास की घोषणा के माध्यम से पर्यटन विकास के प्रयास किए हैं। इससे पर्यटन विकास के द्वार खुलेंगे वकई लोगों को रोजगार भी प्राप्त होगा।
इस मौके पर अतिरिक्त जिला कलक्टर हिम्मतसिंह बारहठ, जिला परिषद सीईओ हर्षसावन सूखा, समाजसेवी मनोहर त्रिवेदी, योगेश जोशी, गोविंदसिंह राव, राजीव ओझा, अनिल पुरोहित, कई विभागीय अधिकारी व बड़ी संख्या में मीडियाकर्मी मौजूद थे।
Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Banswara News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like