logo

ख्वाजा साहब की दरगाह के झालरें में एक जायरीन ने छलांग लगाने की कोशिश की

( Read 2061 Times)

13 Mar 18
Share |
Print This Page
महान सूफी संत हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती का सालाना उर्स के झंडे की रस्म के 1 दिन पहले दरगाह में एक बड़ा हादसा होते टल गया। दरगाह में स्थित झालरा में एक जायरीन ने छलांग लगाने की कोशिश की, लेकिन मौके पर मौजूद दरगाह कमेटी के कर्मचारियों ने उसे पकड़ लिया और उसकी जान बचाई। जानें पूरा मामला...


- छलांग लगाने वाला जायरीन कोलकाता का जफरुद्दीन पुत्र शमसुद्दीन है।

- दोपहर करीब 12:00 बजे के आस-पास जय युवक झालरा के पास पहुंचा और इसमें छलांग लगाने की कोशिश करने लगा। इसके इरादे भांपकर दरगाह कमेटी के कर्मचारियों और मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उसे दबोच लिया।

- करीब 24 वर्षीय युवक मानसिक तौर पर विक्षिप्त बताया जा रहा है। चर्चा यह भी है इस पर कोई ऊपरी साया है और हाजिरी देने के लिए दरगाह में आया हुआ था।

- दरगाह पुलिस थाना ने इसे अपनी हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।

- दरगाह में हुए इस हादसे के बाद जायरीन में हड़कंप मच गया लोग इसे देखने के लिए इकट्ठा हो गए हैं।


पूर्व में लगा चुका है एक व्यक्ति छलांग


- गौरतलब है कि एक-आध महीने पूर्व ही दरगाह में स्थित लंगर के degh मैं भी छलांग लगाई थी। उसे भी मौके पर मौजूद लोगों ने बचा लिया था।


कल बुलंद दरवाजे पर चढ़ेगा झंडा

- ख्वाजा साहब के उर्स का झंडा बुधवार शाम को बुलंद दरवाजे पर चढ़ाया जाएगा। इसके साथ ही सालाना उर्स की अनौपचारिक शुरुआत हो जाएगी। झंडे की रसम मैं भाग लेने के लिए अकीदतमंदों का दरगाह पहुंचना शुरू हो गया है।
Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Ajmer News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like