औचक निरीक्षण में 4 बाल श्रमिक रेसक्यु किये

( 1142 बार पढ़ी गयी)
Published on : 21 Apr, 17 16:04

दो नियक्ताओं की हुई गिरफ्तारी

उदयपुर । मानव तस्करी विरोधी यूनिट एवं चाईल्ड लाईन की टीम ने शुक्रवार को शहर के विभिन्न इलाकों में बाल श्रम करने वालों के विरूद्ध अभियान चलाकर 4 बालकों को रेसक्यु कराया है तथा दो नियोक्ताओं को गिरफ्तार किया है।
पुलिस निरीक्षक प्रभारी हनुवन्त सिंह भाटी मय जाप्ता प्रेमसिंह कानि0 दीपिका, कानि0 श्री रविन्द्र मय श्री कृष्ण कुमार व चाईल्ड हैल्प लाईन सदस्य श्री सोहन लाल, नुर बानो सूर्या वैष्णव एवं भूपेन्द्र सिह ने थाना भोपालपुरा व प्रतापनगर क्षैत्र में 100 फिट रोड पर स्थित ईन्दौरी नमकीन व मठरी स्टोर से 02 बाल श्रमिक मुक्त करवाये गये। पुलिस ने संस्थान के मालिक श्री बनवारी लाल पुत्र धनराज जी यादव नि0 गोकुलपुरा कालॉनी बेकनी पुलिया उदयपुर के विरूद्व थाना भोपालपुरा में बाल श्रम अधिनियम के तहत
प्रकरण पंजीबद्व करवाया गया।
इसी तरह व युनिवरर्सिटी रोड स्थित लक्ष्मी भोजनालय से 02 बाल श्रमिक मुक्त करवाकर नियोक्ता श्री वरदीषंकर पुत्र डालचन्द्र जी बाहम्ण नि0 हनुमान चौक, पायडा, उदयपुर को गिरफ्तार कर थाना प्रतापनगर में प्रकरण पंजीबद्व करवाया गया।
कुल 04 बाल श्रमिक को मुक्त कराया
इस ओपरषन के दौरान यूनिट व चाईल्ड लाईन की सयुंक्त टीम ने कूल 4 बाल श्रमिकों को मुक्त कराया है, उक्त बाल श्रमिक से नियोक्ताओ द्वारा अपने कब्जे में परिरूद्ध कर नमकीन व मठरी बनवाने, रोटी बनवाने, भटटी पर कार्य करवाने एवं साफ-सफाई का कार्य सुबह 06.00 बजे से रात्रि 11.00 बजे तक न्यूनतम मजदुरी में करवाया जाकर इनका षारीरिक, मानसिक षोषण किया जा रहा
था। मान तस्करी यूनिट की रिपोर्ट पर दोनों नियोक्ताओं के विरूद्ध बच्चों को प्रलोभन देकर बालश्रम करवाने, जुर्म धारा किषोर न्याय (बालको की देखरेख सरक्षंण अधि0 2015) की धारा 75,79 श्रण्श्रण् ।बज के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।
समिति के समक्ष किया प्रस्तुत मानव तस्करी यूनिट व चाईल्ड लाईन की सयुंक्त टीम द्वारा रेसक्यु किये गये चारों बालकों को बाल कल्याण समिति, उदयपुर के समक्ष प्रस्तुत किया गया। समिति सदस्य हरीष पालीवाल एव ंबी के गुप्ता ने सभी बच्चों को श्री आसरा
विकास संस्थान के तितरडी स्थित श्री ओपन शेल्टर होम में प्रवेषित कराया गया है।
साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.