तेल-तिलहन उद्योग को मेक इन इंडिया से जोड़ने की जरूरत

( 4859 बार पढ़ी गयी)
Published on : 14 Jan, 15 10:01

नई दिल्ली । खाद्य तेल उद्यमियों ने सरकार से तेल व तिलहन उद्योग को मेक इन इंडिया कार्यक्रम से जोड़ने की मांग की है। खाद्य तेल निर्माताओं के मुताबिक तेल का आयात लगातार बढ़ता जा रहा है, जिससे तेल निर्माता कंपनियों का कारोबार घट रहा है और खाद्य तेल के मामले में देश की निर्भरता आयात पर बढ़ती जा रही है।
अक्तूबर 2013 से नवंबर 2014 के बीच देश में 118 लाख टन खाद्य तेल का आयात किया गया। पिछले साल नवंबर में खाद्य तेल के आयात में वर्ष 2013 नवंबर के मुकाबले 26 फीसदी की बढ़ोतरी रही। उम्मीद की जा रही है कि गत नवंबर से लेकर इस साल अक्टूबर तक 130 लाख टन तेल का आयात किया जा सकता है। पुरी ऑयल मिल्स के प्रबंध निदेशक विवेक पुरी के मुताबिक खाद्य तेल के आयात पर देश की निर्भरता 65 फीसदी तक पहुंच चुकी है, जो काफी चिंताजनक है।
© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.