Pressnote.in

खोखली होती जा रही मानवता के दौर में विवाकानंद के विचार अधिक अधिक प्रासंगिक

( Read 4280 Times)

13 Jan, 18 07:52
Share |
Print This Page

खोखली होती जा रही मानवता के दौर में विवाकानंद के विचार अधिक अधिक प्रासंगिक
Image By
कोटा डॉ.प्रभात कुमार सिंघल/राजकीय सार्वजनिक मण्डल पुस्तकालय, कोटा में आज स्वामी विवेकानद जी के जन्म दिवस को युवा दिवस समारोह के रुप में आयोजन किया गया। बांग्लादेश ( ढाका) स्थित भारतीय दूतावास एवं ढाका विश्वविधालय मे हिंदी का परचम फहराने वाली शिक्षिका श्रीमती डा. अपर्णा पाण्डेय ने स्वामी विवेकानंद जी जी के जीवनदर्शन पर प्रकाश डालते हुये बताया कि – “भोतिक वस्तुयें आप को शारिरिक सुख दे सकती हैं आत्मा को संतुष्ठ नही कर सकती, वर्तमान समय में उनकें उपदेशों की प्रासंगिकता और अधिक व्यापक हो गयी हे जहा मानवीय संवेदनायें खोखली होती जा रही हैं। स्वामी विवेकानद जी के व्यक्तित्व पर प्रकाश डालते हुये पुस्तकालय प्रभारी डा. दीपक कुमार श्रीवास्तव ने बताया की स्वामी जी केवल संत ही नही देशभक्त, वक्ता, विचारक, लेखक एवं मानव प्रेमी थे।
श्रीमति सीमा घोष ने बताया कि -1893 में शिकागो विश्व धर्म परिषद में भारत के प्रतीनिधी बनकर गये किन्तु उस समय युरोप में भारतीयों को हीन दृष्टी से देखते थे। उगते सूरज को कौन रोक पाया है, वहाँ लोगों के विरोध के बावजूद एक प्रोफेसर के प्रयास से स्वामी जी को बोलने का अवसर मिला। स्वामी जी ने बहिनों एवं भाईयों कहकर श्रोताओं को संबोधित किया। स्वामी जी के मुख से ये शब्द सुनकर करतल ध्वनी से उनका स्वागत हुआ ।
श्री राजेंद्र शर्मा ने कहा कि – “ चरित्र की पूजा होती हें चित्र की नही । डीपी.एस स्कुल की प्रिंसिपल श्रीमती युगल सिंह, नवचेतना प्रतिष्ठान की संरक्षक श्रीमति प्रिति शर्मा , ठाकुर करण सिंह मेमोरियल पुस्तकालय कें निदेशक श्री योगेंद्र सिंह , गौतम समाज की संभागीय महिला अध्यक्ष इंदु गौत्तम , शशि पारीक तथा चंद्रशेखर सिंह जी नें स्वामी जी के जीवन पर प्रकाश डाला ।

युवा दिवस पर स्टोरी टेलिंग सत्र का आयोजन किया गया जिसमें हाडोती की सुप्रसिद्ध लेखिका श्रीमती रेखा पंचोली जी ने अपनी कहानी “ सेतु निर्माण” से देश पारिवारिक तानाबानें को आमजन से रुबरु कराया ।

कार्यक्रम का संचालन श्री के.बी दीक्षित ने किया । कार्यक्रम का प्रबन्धन आयोजन श्री अजय सक्सेना एवं श्री नवनीत शर्मा द्वारा किया गया । कार्यक्रम संयोजिका श्रीमति शशि जैन ने सभी का आभार व्यक्त किया
Source :

यह खबर निम???न श???रेणियों पर भी है: Headlines , Kota News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like



Group Edior : Mr. Virendra Shrivastava
For any queries please mail us at : newsdesk.pr@gmail.com For any content related issue or query email us at newsdesk.pr@gmail.com, CopyRight © All Right Reserved. Pressnote.in