मदरसों में पांच सौ पैरा कम्प्यूटर शिक्षकों की भर्ती

( Read 93963 Times)

24 Jun, 11 09:43
Share |
Print This Page

जयपुर । राज्य के मदरसों में शिक्षा सहयोगियों के चयन की प्रक्रिया चल रही है। मदरसा शिक्षा को बढावा देने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा मदरसों में स्वीकृत पांच सौ पैरा कम्प्यूटर शिक्षकों की भर्ती करने के अलावा साढे तीन हजार मदरसा शिक्षा सहयोगी लगाए जा रहे है।
अल्प संख्यक मामलात के प्रमुख शासन सचिव रोहित आर. ब्राण्डन ने बताया कि हाल ही में 500 मदरसा कम्प्यूटर पैरा टीचर्स की भर्ती सम्पन्न हुई है, जिसमें से 428 को अनुबन्ध पर मदरसा आवंटित कर दिये गये हैं, शेष 72 को आवंटन किए जा रहे हैं जहां कम्प्यूटर उपलब्ध है।
उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा 29 अक्टूबर, 10 को विज्ञापित पदों के लिए तहसीलवार उर्दू योग्यताधारी प्रशिक्षित आवेदको की वरीयता सूची जारी कर दी गई है, जो वेबसाईट www.rajmadarsa.com पर उपलब्ध है। इसी प्रकार तहसीलवार 3500 रिक्त पदों की सूचना भी वेबसाईट पर दी गई है, जिन पर नवचयनित शिक्षा सहयोगियों को लगाया जायेगा। अभ्यर्थियों की यदि उनकी कोई परिवेदना है तो 30 जून तक प्रस्तुत करने का समय दिया गया है। इसके पश्चात प्रशिक्षित उर्दू योग्यताधारी अभ्यर्थियों की अंतिम वरीयता सूची तहसीलवार जारी करके मदरसो का आवंटन किया जायेगा।
उन्होंने बताया कि सरहदी जिलों के मदरसो विशेषकर बाडमेर, जैसलमेर एवं मेव बाहुल्य जिले आदि में मदरसा शिक्षा में कोइ कमी नहीं रहे, इसके लिए राज्य सरकार गंभीर है एवं वर्तमान चयन प्रक्रिया आरंभ कर सभी रिक्तियों को चरणबद्घ तरीके से भरा जायेगा। इसमें पहले चरण में प्रशिक्षित श्रेणी के अभ्यर्थी प्राथमिकता से चयनित होंगे जिसके लिए आज अस्थाई वरीयता सूची जारी की गयी है।
श्री ब्राण्डन ने बताया कि भर्ती प्रक्रिया को पूर्णतः पारदर्शी एवं दोषमुक्त रखा गया है, केवल पूर्णतः मेरिट के आधार पर वरीयता सूची जारी की गई है, जिसमें साक्षात्कार का प्रावधान भी नहीं रखा गया है। अस्थाई वरीयता सूची के बाद सभी अभ्यर्थियों को परिवेदना प्रस्तुत करने का अवसर प्रदान किया गया है ताकि उनकी समस्याओं का निदान परिवेदना समिति द्वारा किया जा सके। इसके बाद अंतिम वरीयता सूची जारी कर चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति जारी की जायेगी।
उन्होंने बताया कि विभाग में न्यायिक अवरोध दूर कर विधि विशेषज्ञों की राय से मदरसों में वर्ष 2009 में जारी भर्ती प्रक्रिया को टी ई टी परीक्षा से मुक्त कराया जिससे करीब 14 हजार अभ्यर्थियों को राहत मिली है।

Source : By Prashant Shrivastava

यह खबर निम्न श्रेणियों पर भी है: , Raj Ex-CM-News
Your Comments ! Share Your Openion
About Us
Group Edior : Mr. Virendra Shrivastava
Best Viewed in IE6+, Mozilla 3+ (1024 x 768 px)
For any queries please mail us at : newsdesk.pr@gmail.com
CopyRight : Pressnote.in
WCAG